भभुआ में लोक सभा प्रत्याशी ने प्रेस कांफ्रेंस में लहराया हथियार, लोकतंत्र के लिए गोली चलाने को तैयार
भभुआ। बिहार में लोकसभा उम्मीदवार रामचंद्र सिंह यादव ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में खुलेआम हथियार लहराया और कहा कि यदि आदेश मिले तो वे लोकतंत्र बचाने के लिए गोली चलाने को तैयार हैं। भभुआ के पूर्व विधायक और बक्सर लोकसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार ने कहा, “लोकतंत्र बचाने के लिए हथियार उठाना पड़े तो उठाऊंगा। पक्ष में नतीजे नहीं आने पर खून की नदियां भी बहा दूंगा।” रामंचद्र यादव के इस बयान का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

रामचंद्र यादव ने कहा, “तेजस्वी यादव और उपेंद्र कुशवाहा जी कहने से नहीं होगा, करना पड़ेगा। लड़ना पड़ेगा। बगैर लड़े हुए अधिकार नहीं मिलने वाला है। प्रजातंत्र, लोकतंत्र, संविधान को बचाने के लिए हमलोग मरने, लड़ने और जेल जाने के लिए तैयार हैं। मगर अगुवाई आपको करना पड़ेगा। आप आदेश कीजिए। हम पूरी ताकत के साथ लड़ेंगे। इसी सवाल को लेकर उपेंद्र कुशवाहा ने जो बात कही है, उस पर सभी नेता को एकजुट हो जाना चाहिए। किसी भी परिस्थिति में, मात्र 379 लोगों के हाथों में इस देश की व्यवस्था चरमरा रही है। अब बैकवर्ड और फॉरवर्ड का मामला नहीं रहा है।”

उन्होंने आगे कहा, “जिस युद्ध को छेड़ा है, उसे माफ नहीं किया जाएगा। लड़ना पड़ेगा। धन-धरती अब बंट के रहेगी। लड़ाई को आगाज देना है तो सभी नेताओं को एकजुट होना पड़ेगा। धन-धरती को भी बांटना पड़ेगा। मैं भी एक संवैधानिक पद पर रहा हूं, लेकिन पहले देश का नागरिक हूं। पहले देश के आबरू, संविधान और सम्मान की रक्षा करना है।”

रामचंद्र यादव ने कहा, “भभुआ का एक नागरिक होने के नाते मैंने हथियार उठाया है, नेता लोग आदेश दें, कहां युद्ध करना है, किससे करना है, कैसे करना है, हजारों-करोड़ों समर्थक मेरे तैयार हैं। मैं लड़ने के लिए तैयार हूं। भीमराव अंबेदकर द्वारा बनाए गए संविधान की रक्षा के लिए रामचंद्र यादव जैसे करोड़ों-करोड़ नौजवान अपनी आहूति देने के लिए तैयार हैं। हम लोग हथियार उठाने को तैयार हैं

गौरतलब है कि एनडीए सरकार में पूर्व मंत्री और बिहार में महागठबंधन में सहयोगी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कशवाहा ने एक दिन पहले कहा था, “भाजपा नतीजों को लूटने की कोशिश कर रही हे। उनके इस रवैये से सड़कों पर खून बहेगा। पहले बूथ लूटा जाता था। अब भाजपा एग्जिट पोल के नतीजों के आधार पर रिजल्ट लूटना चाहती है। ईवीएम को इधर-उधर किए जाने की बातें सामने आयी है। रिजल्ट की लूट की कोशिश हुई तो जनता को आक्रोश संभल नहीं पाएगा।”