प्राधिकरण द्वारा हरौला निवासी के जमीन पर कब्जा करने को लेकर प्राधिकरण पर हंगामा किया

नोएडा। नोएडा के सेक्टर 5 स्थित हरौला गांव की संपत्ति भूमि खसरा संख्या 892 रकबा 1 बीघा पर प्राधिकरण द्वारा अनाधिकृत कब्जा किए जाने को लेकर भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के सदस्यों ने मंगलवार को प्राधिकार के गेट पर पहुंचकर नारे लगाए और कब्जा स्थल पर किए रहे सड़क निर्माण, बाउंड्री आदि को रोके जाने की मांग की।
इस संबंध में प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी के नाम एक पत्र 1 अप्रैल 2019 को दिया गया था।
भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने बताया कि उक्त जमीन पर गजेंद्र आदि का पुश्तैनी जमीन है जिसे नोएडा प्राधिकरण के कर्मचारियों ने जबरन जेबीसी मशीन द्वारा  तोड़ दिया गया और बरात घर के आगे बाउंड्री व सड़क का निर्माण किया जा रहा है। प्राधिकरण द्वारा उक्त जमीन बाबत हस्तक्षेप किये जाने पर स्वर्गीय जगराम द्वारा नोएडा प्राधिकरण के विरुद्ध मुकदमा संख्या 1354 वर्ष 1988 न्यायालय सिविल जज गाजियाबाद में दायर किया था। जिसमें नोएडा प्राधिकरण के विरुद्ध फैसला दिया गया। बावजूद प्राधिकरण द्वारा न्यायालय के फैसले पर अवमानना कर रही है।
खसरा 892 के बाबत प्राधिकरण द्वारा न्यायालय में अपील संख्या 17 वर्ष 2010 में दायर किया जिसमें यथास्थिति बहाल करने का आदेश जारी किया गया। फिलहाल, अभी तक यह आदेश जारी है। इस संबंध में भारतीय किसान यूनियन ( टिकैत )के सदस्यों ने प्राधिकरण के विरुद्ध जमकर नारे लगाए और कहा कि यह नाइंसाफी बर्दाश्त नहीं होगी।


इस मौके पर किसान यूनियन के पदाधिकारी महेंद्र सिंह चोरोली, पवन खटाना, सुभाष चौधरी, अमित कसाना, सुरेंद्र नागर, राजे प्रधान, योगी नंबरदार, अशोक भाटी,विपिन, अनिल चौधरी, मिट्टी राम चौधरी, विकी चौधरी, गजेंद्र चौधरी आदि शामिल रहे।