प्राधिकरण के मानसून तैयारियों पर कोरवा के प्रतिनिधिमंडल नाख़ुश

प्राधिकरण उपमहाप्रबंधक से मिले समाजसेवी ,


मानसून की तैयारियों का लिया जायज़ा


कोनरवा , एवीआरडब्लूए एवं नोवरा का उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल तैयारियों से नाखुश


नोएडा।  आज यहाँ कोनरवा (कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ एनसीआर रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन ) एवी आरडब्लूए (अरुण विहार रेसिडेंट्स वेलफेयर असोसिएशन )एवं नोवरा (नॉएडा विलेज रेसिडेंट्स एसोसिएशन ) का एक सम्मिलित प्रतिनिधिमंडल नॉएडा प्राधिकरण के वरिष्ठ परियोजना अभियंता एवं स्वास्थ्य उपमहाप्रबंधक  एस सी मिश्रा से मिला। इस दौरान आने वाले मानसून की तैयारियों के बारे में प्राधिकरण द्वारा की गई तैयारियों और कार्यों के बारे में विस्तृत चर्चा हुई ।


इस प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व ब्रिगेडियर (रिटायर्ड) श्री अशोक हक़ कर रहे थे , इस दौरान ब्रिगेडियर हक़ ने पहला मुद्दा उठाया नालों की सफाई का एवं यह उम्मीद भी ज़ाहिर की कि जब भी सफाई की जाए तो आर डब्लू ए पदाधिकारियों को इसकी जानकारी दी जाए जिससे वह वहां उपस्थित हों और सही तरीके से सफाई पूर्ण होने तक निरिक्षण कर सकें।


इस मांग को श्री मिश्रा ने ठुकरा दिया और कहा के ऐसा कोई प्रावधान नहीं है।  इसके बाद श्री हक़ द्वारा मच्छर आदि कीट भगाने वाले केमिकल स्प्रे के अब प्रभावी न होने की बात की और कहा के कहीं न कहीं अब उसमें कुछ ऐसी मिलावट होती है जिससे वह पूर्ण रूप से कार्य नहीं करता। डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का सही ढंग से कार्य नहीं हो पाने की बात अरुण विहार आर डब्लू ए अध्यक्ष श्री कर्नल वैद्य ने की और कहा के प्राधिकरण द्वारा दिए गए कॉल सेंटर नंबर पर कोई फोन नहीं उठाता है। अधिकारी के सामने ही फोन मिलाया गया जिसे कंपनी द्वारा नहीं उठाया गया। इसके साथ ही मार्केटों में पैदा होने वाले कचरे की ज़िम्मेदारी भी उठाने से प्राधिकरण ने हाथ झाड़ लिए और कहा के इसकी एक और पालिसी बनाई गई है जिसकी जानकारी भी देने से अधिकारी ने मना कर दिया। मार्केटों के नज़दीक वाली नालियों की सफाई के 12 घंटे के भीतर यदि कोई कचरा बड़ी मात्रा में उनमें डाल दिया जाता है तो इसकी भी ज़िम्मेदारी प्राधिकरण ने लेने से इंकार कर दिया। सेक्टर 27 आर डब्लू ए अध्यक्ष  राजीव गर्ग द्वारा अपने सेक्टर में गंदगी एवं खुले नालों की समस्या अधिकारी के सामने रखी।


सेक्टरों के बाद ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओं को उठाया गया जिनमें मामूरा के मुख्य मार्ग पर बना दिए गए अनाधृकित कूड़े के स्थान की बात की गई। साथ ही छलेरा में सामुदायिक केंद्र के सामने भी ऐसा ही कचरे का एक पूरा प्लाट बना दिया गया है एवं ग्राम नंगली बाजिदपुर में नालियों में न होने वाली सफाई की बात प्रमुखता से उठाई गई। इसके बारे में कार्य करने की बात तो अधिकारी ने की, किन्तु बेहद चौंकाने वाली बात यह कह दी के ग्रामीणों को भी संस्था के लोग प्रशिक्षित करें कि वह अनधिकृत जगह पर कूड़ा न डालें। नॉएडा प्राधिकरण इतने सारे कूड़े नहीं उठाएगी।


इस बाबत संस्था अध्यक्ष  रंजन तोमर ने कहा के संस्था अथवा आर डब्लू ए सामाजिक संस्थाएं है और वह चुने हुए प्रतिनिधि नहीं हैं। इस बाबत कार्यवाही प्राधिकरण को ही करनी होगी न की ग्रामीणों को। साथ ही कई ग्रामीण क्षेत्रों से कूड़ा निश्चित कूड़ा स्थल की बजाये आस पास प्राधिकरण कर्मियों द्वारा ही एकत्रित कर दिया जाता जाता है ,इस बाबत अधिकारी संज्ञान लें। 


कुल मिलकर इस मीटिंग में कुछ एक बातों को छोड़ दिया जाए तो प्राधिकरण का अड़ियल रवैय्या ही सामने आया जहाँ प्राधिकरण और प्रशासन अपने कार्यों को स्वयं न कर जनता पर डालना चाहता है जो हमेशा से ही प्राधिकरण की पालिसी रही है। देखना है के इस बार भी किस प्रकार समय पर नालों की सफाई होगी और मानसून की तैयारियां होंगी या हर बार की तरह टैक्स देने वाली जनता का पैसा यूं ही नालियों के रास्ते बहा दिया जाएगा। 


इस दौरान श्रीमती कविता जमैल (अरुण विहार आर डब्लू ए मेंबर , श्री अजय चौहान (उपाध्यक्ष, नोवरा ) एवं श्री पुनीत राणा महासचिव (नोवरा ) उपस्थ्ति रहे।