बरौला के महापंचायत में किसानों ने भरी हुंकार, न्याय नहीं मिलने तक जारी रहेगा आंदोलन

नोएडा। आज बरौला स्थित धरना स्थल पर किसानों के महापंचायत में दर्जनों गांवों के किसानों ने हुंकार भरते हुए दम दिखाई व सिटी मजिस्ट्रेट को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।


बरौला के किसानों ने नोएडा प्राधिकरण की गाँव उजाड़ूँ नीतियों के ख़िलाफ़ भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में धरने के आठवें दिन महापंचायत का आयोजन किया। इसमें बड़ी संख्या में किसान शिरकत करने पहुंचे। अध्यक्षता मास्टर लज्जाराम व संचालन अरूण शर्मा ने किया।


किसानों के इस पंचायत में कई राजनीतिक दल व सामाजिक संगठन व किसान संगठनों के पदाधिकारी, कार्यकर्ता और क्षेत्र के किसान महिलायें व युवा बड़ी संख्या मे शामिल हुए।पंचायत में सभी वक्ताओं ने प्राधिकरण की गाँव उजाड़ूँ नीतियों का जमकर विरोध किया।


पंचायत ने फ़ैसला किया कि बरौला चौराहे पर रोज़ाना प्राधिकरण का पुतला फूँका जायेगा और जल्द ही जनप्रतिधियों व प्राधिकरण का भी घेराव किया जायेगा। 
पंचायत में मौजूद समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता राजकुमार भाटी ने कहा कि प्रदेश सरकार चुनाव से पहले जहाँ सबका साथ सबका विकास करने की बात कर रही थी, लेकिन अब नोएडा के किसानों का विनाश करने पर उतारू है। यह किसानों की पुश्तैनी आबादी की ज़मीन है जिसे नोएडा की बोर्ड बैठक में किसानो के पक्ष मे बैकलीज करने के लिये पास किया हुआ है और अब एनजीटी की आड़ में इसे छीनना चाहती है,जो किसानो के साथ सरासर अन्याय है।


पूर्व विधायक श्रीभगवान उर्फ़ गुड्डू पंडित ने कहा कि किसानों के पक्ष मे सारे मज़बूत काग़ज़ होने के बावजूद अधिकारियों की वादाखिलाफी बहुत शर्मनाक है। इसे किसी  क़ीमत पर बर्दाश्त नही किया जायेगा। 
भाकियू भानु के राष्ट्रीय महासचिव चौधरी बेगराज गुर्जर ने कहा कि अगर प्राधिकरण के अधिकारियों ने किसानो के साथ न्याय नहीं किया तो आन्दोलन को तेज़ किया जायेगा।


आज पंचायत में गौतमबुद्धनगर, अलीगढ़, बुलंदशहर, ग़ाज़ियाबाद, हापुड़ व मेरठ के मुख्य पदाधिकारी शामिल हुए। ज़रूरत पड़ी तो पश्चिम उत्तर प्रदेश के हज़ारों कार्यकर्ताओं को आंदोलन में शामिल कर प्राधिकरण के अधिकारियों का घेराव किया जायेगा। वक्ताओं ने साफ किया कि नोएडा के सभी किसानों को न्याय नहीं मिलने तक आंदोलन जारी रहेगा ।
पंचायत में मुख्यरूप से राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अजब सिंह कसाना, बीरसिंह यादव, सुखबीर ख़लीफ़ा ,बीसी प्रधान, राजीव अधाना, पवन हूण, ठा.ओमवीर सिंह, जयकुमार, सतबीर सिंह, गीता भाटी ,धर्मपाल पहलवान ,सुरेन्द्र प्रधान ,चौ बाली सिंह ,भोपाल चौहान, गौतम अवाना ,ओमप्रकाश गुर्जर, पुरूषोत्तम नागर ,जयबीर प्रधान , सतीश चौहान, भोपाल चौहान, ललित अवाना, कौशिंदर यादव, धर्मवीर प्रधान, विजय चौहान ,बालकराम कश्यप,प्रेमसिह भाटी, रहीसुद्दीन, करमवीर, अनिल , कमल, मोनू, सहित अन्य लोग हज़ारों की संख्या में मौजूद रहे।