बिहार में चमकी बुखार का कहर, 80 मरे, हर्षवर्धन आज बिहार में






 


पटना। बिहार में गर्मी और चमकी बुखार से लगातार मौत हो रही हैं. केंद्र और राज्य सरकार लगातार चमकी बुखार पर काबू करने का प्रयास कर रही है, लेकिन वह इसमें विफल नजर आ रही है. इसी क्रम में रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन पटना पहुंचे हैं.

हर्षवर्धन यहां गर्मी और चमकी बुखार से मरने वालों का हालचाल लेंगे. पटना से वह मुजफ्फरपुर जाएंगे और स्थिति की समीक्षा करेंगे. पटना पहुंचने के बाद गर्मी से मरने वालों पर बोलते हुए हर्षवर्धन ने कहा कि यह बेहद दुखद है कि लोग गर्मी से मर रहे हैं. मेरी लोगों को सलाह है कि जबतक तापमान सामान्य नहीं होता घर से बाहर न निकलें. तेज गर्मी दिमाग पर असर डालती है. वहीं जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पटना में डॉ. हर्षवर्धन के खिलाफ प्रदर्शन किया.

 

बिहार के गया में अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज में गर्मी से 12 लोगों की मौत हो गई है. गया के जिलाधिकारी ने बताया कि मरने वाले 12 में से 7 लोग गया के हैं, 2 औरंगाबाद, 1 छात्र, 1 शेखपुरा और 1 नवादा के हैं. 25 मरीज यहां भर्ती हैं, हमारी कोशिश है कि उन्हें जल्द से जल्द ठीक किया जा सके.

गया के जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने बताया कि अस्पताल में सभी पर्याप्त व्यवस्था कर दी गई है. 6 वरिष्ठ डॉक्टर और 10 इंटर्न को वहां तैनात कर दिया गया है. मृतकों के परिवार को 4 लाख रुपए सहायता राशि दी जाएगी. जो भी परिवार बीपीएल श्रेणी कै हैं उन्हें अंतिम संस्कार के लिए 20 हजार रुपए भी दिए जाएंगे.