महिला प्रिंसिपल को घर में पीट- पीट कर मार डाला


गुरुग्राम। यहां पालम विहार सेक्टर-23 में एक महिला प्रिंसिपल की उसके घर में पीट-पीटकर हत्या करने का मामला सामने आया है। मृतक महिला के पति का आरोप है कि संपत्ति विवाद में उसके भाई, भाभी और भतीजी ने मिलकर उनकी पत्नी की जान ली है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शरीर पर हल्की चोट के निशान मिले हैं। पालम विहार थाना पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक, पुणे के एक एक निजी स्कूल की प्रिंसिपल सवेंदर कौर (54) घटना के वक्त शनिवार शाम अपने घर में अकेली थीं। वह अभी गर्मी की छुट्टियों में घर आई हुई थीं। उनके पति सुखबीर सिंह पास के मार्केट में खरीददारी करने के लिए गए थे। वारदात के वक्त शनिवार शाम सवा सात बजे के करीब सवेंदर ने मदद के लिए अपने बेटे प्रभशरण सिंह को ऑफिस में फोन किया। सवेंदर कौर के पति सुखबीर सिंह ने अपने छोटे भाई जसप्रीत सिंह, उनकी पत्नी प्रीति कौर और बेटी परम कौर के खिलाफ नामजद शिकायत दी है। इसमें बताया है कि जसप्रीत के साथ उनका पहले से संपत्ति विवाद लंबित है। इस संबंध में अदालत में सुनवाई भी चल रही है। उन्होंने बताया कि इन्हीं तीन लोगों ने उनकी पत्नी को पीट पीटकर मारा है। 
बेटे ने किया फोन : सुखबीर सिंह के मुताबिक वह मार्केट से सवा सात बजे घर लौट रहे थे। उसी दौरान उनके बेटे प्रभशरण ने फोन किया और कहा कि मां के साथ कोई झगड़ा हुआ है। वह बचाओ-बचाओ चिल्ला रही है। इस सूचना पर वह भागकर घर पहुंचे और दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया, लेकिन जब दरवाजा नहीं खुला। उन्होंने दरवाजा तोड़ दिया। अंदर उनकी पत्नी मृतप्राय पड़ी थी। तत्काल पुलिस को सूचना देकर उसे अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया है।
पोस्टमार्टम में वजह साफ नहीं : मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के बाद भी सवेंदर कौर की मौत की वजह साफ नहीं हो सकी है। बोर्ड के सदस्य एवं फॉरेंसिक विशेषज्ञ डॉ. दीपक माथुर के मुताबिक शव पर हल्की चोट के निशान मिले हैं। सिर में कोई चोट के निशान नहीं मिले हंै। उन्होंने बताया कि मौत की वजह साफ नहीं होने की वजह से बिसरा जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेज दिया गया है।
बालकनी से कूदकर भागे आरोपी
सवेंदर कौर के बेटे प्रभशरण सिंह के मुताबिक वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी बालकनी कूदकर भागे हैं। उन्होंने बताया कि उनकी मां ने उन्हें फोन पर बताया था कि आरोपी मुख्य दरवाजे से अंदर घुसे और उनके ऊपर हमला करने के बाद बालकनी से कूदकर भाग रहे हैं। इसके बाद उन्होंने पिता को फोन किया।
मारने की धमकी दी थी
प्रभशरण सिंह के मुताबिक चाचा-चाची के साथ काफी समय से संपत्ति विवाद चल रहा है। आए दिन चाचा उनके साथ गाली गलौज करते रहते हैं। कई बार पुलिस में शिकायत भी दी गई। पिछले दिनों उनके चाचा ने पुलिस में उनके खिलाफ गमला तोड़ने की शिकायत दी थी। फोन पर भी आरोपी ने उन्हें और उनकी मां को जान से मारने की धमकी दी थी।
विदेश में भी की थी नौकरी
सवेंदर कौर शिक्षा के क्षेत्र में शहर का बड़ा नाम है। वह वर्तमान में पुणे स्थित निजी स्कूल में प्रिंसिपल थीं। गर्मी की छुट्टियों में एक सप्ताह पहले ही घर आई थीं। करीब 22 साल पहले वह सेक्टर-15 स्थित सालवान पब्लिक स्कूल में हेड मिस्ट्रेस थीं। नौ साल यहां काम करने के बाद वह सिंगापुर चली गई थीं। वहां से लौटने के बाद पुणे के एक स्कूल में प्रिंसिपल बनीं थीं।