प्राधिकरणों को लोगों के जीवनस्तर में सुधार कार्यक्रम को प्राथमिकता तय करना चाहिए : योगी

ग्रेटर नोएडा: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज नोएडा के आसपास शहरी विकास परियोजनाओं में स्थानीय युवाओं को रोजगार देने की आवश्यकता पर जोर दिया। मुख्यमंत्री ने यह बात नोएडा में औद्योगिक विकास प्राधिकरण, ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण, यमुना एक्सप्रेसवे विकास प्राधिकरण की समीक्षा बैठक के दौरान कही।


मुख्यमंत्री ने समीक्षा के दौरान कहा कि “स्थानीय युवाओं की आकांक्षाओं की अनदेखी करने वाले क्षेत्रों को विकसित करना उचित नहीं होगा,”। क्षेत्रों के विकास के साथ साथ प्राधिकरणों को स्थानीय लोगों के जीवन स्तर में भी सुधार लाने को प्राथमिकता देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि तीनों प्राधिकरणों को साथ मिलकर नॉएडा और आसपास के क्षेत्रों का विकास करना चाहिए और इसमें यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि विकास में कोई कमी न रह जाये।


मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला प्रशासन यह सुनिश्चित करे कि स्थानीय युवाओं का विकास भी शहर के विकास का हिस्सा हो। “जब हम क्षेत्रों का विकास करें तो हमें उनके कौशल के आधार पर स्थानीय युवाओं को भी रोजगार उपलब्ध कराना चाहिए। अगर जरूरत पड़े तो हमें उनके कौशल में सुधार करके उन्हें रोजगारपरक बनाना चाहिए,” उन्होंने कहा।


आदित्यनाथ ने कहा कि जिला प्रशासन को शहरी क्षेत्रों में नौकरी की आवश्यकता के अनुसार युवाओं के कौशल विकास को
सुनिश्चित करना चाहिए। “मैं किसी अयोग्य व्यक्ति तो नौकरी पर रखने का सुझाव नहीं दे रहा हूं, लेकिन हम हमेशा युवाओं को आवश्यक कौशल प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं और फिर उन्हें रोजगार दे सकते हैं।"


योगी ने कहा कि नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस-वे वाले क्षेत्रों में प्रवेश करने वाले लोगों को इन क्षेत्रों में सकारात्मक बदलाव महसूस करना चाहिए। यातायात की बेहतर व्यवस्था, कूड़ा निपटान और सामान्य सुरक्षा में सुधार जल्द से दिखने वाले काम हैं जिनपर तत्काल रूप से काम करने की आवश्यकता है। “सुंदर, हरे भरे पार्क, सार्वजनिक जिम शहर के विकास के बारे में लोगों के मन में एक सकारात्मक धारणा बनाते हैं।"


मुख्यमंत्री ने तीनों प्राधिकरणों के अनुरोध पर विचार करते हुए कहा कि सरकार प्राधिकरणों में लंबित रिक्तियों के मामले में कर्मचारियों की भर्ती के लिए हर संभावित समर्थन देने पर विचार करेगी। योगी ने सुझाव दिया कि अधिकारियों को भी खर्च की योजना इस तरह बनानी चाहिए, जिससे लोगों का जीवन आरामदायक हो। “अधिकारियों को वहीं पैसा खर्च करना चाहिए जिन परियोजनाओं से स्थानीय लोगों को लाभ पहुंचे।'


योगी ने कहा कि अधिकारियों को विकास की योजना बनानी चाहिए जो दीर्घकालिक रूप से काम कर सके। “जेवर हवाई अड्डा अगले कुछ वर्षों में तैयार हो जाएगा, इसलिए हवाई अड्डे के आसपास का विकास उस क्षेत्र की दीर्घकालिक आवश्यकताओं को देखते हुए किया जाना चाहिए। "