वेव ग्रुप के सीईओ मोंटी चढ्ढा गिरफ्तार, फ्लैट खरीददारों से धोखाधड़ी का आरोप
दिल्ली।

 

 

इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से वेव ग्रुप के CEO मनप्रीत सिंह चड्ढा उर्फ मोंटी चड्ढा को गिरफ्तार कर लिया है. मोंटी चड्ढा पर फ्लैट खरीदार के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप है. वहीं साकेत कोर्ट ने मोंटी चड्ढा की ओर से दायर जमानत याचिका खारिज कर दी है. कोर्ट ने जमानत याचिका खारिज करने के साथ ही मोंटी चड्ढा को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. अब मोंटी चड्ढा को तिहाड़ जेल भेजा जाएगा.

मनप्रीत सिंह फ्लैट खरीदारों से जो वादे किए थे वह उन्हें पूरा करने में पूरी तरह नाकाम साबित हुआ. आरोप है कि मोंटी चड्ढा ने NH24 पर स्थित एक हाईटेक टाउनशिप परियोजना में मेट्रो ट्रेन, हेलीपैड जैसी सुविधाओं के अलावा अन्य सुविधाएं देने का वादा किया था. लेकिन इनमें से कोई भी वादा पूरा नहीं हो पाया. इसलिए मोंटी के खिलाफ साल 2018 में निवेशकों के साथ 100 करोड़ रुपए से अधिक की धोखाधड़ी करने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई थी.

ये पूरा मामला वित्तीय अपराध से जुड़ा हुआ है इसलिए मोंटी के खिलाफ लुक-आउट सर्कुलर जारी किया गया था. मोंटी को इमिग्रेशन अधिकारियों ने उस वक्त एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया, जब वह बुधवार की रात फुकेत जाने के लिए वहां पहुंचा था. बाद में उसे दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया गया.

मनपीत सिंह चड्डा शराब कारोबारी पोंटी चड्ढा का बेटा है. मनप्रीत के पिता पोंटी चड्ढा की हत्या हो चुकी है. मोटी की  रियल एस्टेट कंपनी हाईटेक डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड पर फ्लैट खरीदारों से धोखाधड़ी करने का आरोप है. मनप्रीत सिंह चड्डा शराब कारोबारी पोंटी चड्ढा का बेटा है. मनप्रीत के पिता पोंटी चड्ढा की हत्या हो चुकी है. मोटी की  रियल एस्टेट कंपनी हाईटेक डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड पर फ्लैट खरीदारों से धोखाधड़ी करने का आरोप है.