यतेंद्र कसाना लड़ेंगे एमएलसी का चुनाव








नोएडा। स्कूलों प्रबंधनों की मनमानी और डिस्ट्रिक्ट फी रेगुलेटरी कमेटी की नाकामी से जाजिज ऑल नोएडा स्कूल पैरेंट्स एसोसिएशन ने बुधवार को बड़ा ऐलान कर दिया। एसोसिएशन के अध्यक्ष यतेंद्र कसाना ने कहा कि आगामी विधान परिषद के चुनाव में संगठन अपने प्रत्याशी उतारेगा।


सेक्टर-33 स्थित आवास पर बुधवार को हुई प्रेस कान्फ्रेंस में एसोसिएशन के अध्यक्ष यतेंद्र कसाना ने कहा कि स्कूलों और उनके प्रबंधनों की मनामानी बढ़ती जा रही है। उस पर किसी का अंकुश नहीं है। उस पर से डिस्ट्रिक्ट फी रेगुलेटरी कमेटी भी अपना काम ठीक से नहीं कर रही है। इसका खामियाजा अभिभावकों को उठाना पड़ रहा है। उन्होंने जिला प्रशासन पर अभिभावकों को धमकाने और भगाने का भी आरोप लगाया। यतेंद्र कसाना ने बताया कि इस फी रेगुलेटरी कमेटी और स्कूल प्रबंधन की मनामानी के मसले पर वे प्रदेश के डिप्टी सीएम से मिल चुके हैं। उन्होंने भी प्रशासन के अफसरों को आगाह किया कि वे अभिभावकों के साथ बुरा बर्ताव न करें। लेकिन, हालात में कोई सुधार नहीं हुआ।


यतेंद्र कसाना ने बताया  कि एमएलसी का चुनाव लड़ने का फैसला उन्होंने इसलिए लिया ताकि अभिभावकों का एक प्रतिनिधि विधान परिषद में जाकर अपनी आवाज बुलंद कर सके। अब तक यह चुनाव केवल शिक्षकों के बीच ही होता रहा है, लेकिन इस बार पैरेंट्स एसोसिएशन भी चुनाव लड़ेगी। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सर्वसम्मति से अपना प्रतिनिधि यतेंद्र कसाना को बनाने की घोषणा की है।


गौरतलब है कि स्कूलों में फीस वृद्धि, यूनिफार्म और किताबें स्कूल से ही खरीदने के मामले को लेकर ऑल नोएडा स्कूल पैरेंट्स एसोसिएशन ने अभियान चलाकर विरोध किया था। आएदिन स्कूलों के बाहर प्रदर्शन कर उनकी मनमानी पर अंकुश लगाने की कोशिश की गई थी। उसके बाद जिलाधिकारी बीएन सिंह ने उनकी समस्याएं सुनीं और स्कूलों पर शिकंजा कसा। नियमों का उल्लंघन करने वाले स्कूलों के खिलाफ डीएम ने कार्रवाई करते हुए जुर्माना भी लगाया था। उन्होंने कहा कि फीस बढ़ोतरी के मामले में विधायक और सांसदों ने उनकी बात नहीं सुनी। इसी वजह से फैसला लिया गया है कि आने वाले एमएलसी के चुनाव में ऑल नोएडा स्कूल पैरेंट्स एसोसिएशन हिस्सा लेगी, जिससे अभिभावकों की दिक्कतें प्रदेश के उच्च सदन में उठाई जा सके।