गुंजन अग्रवाल को मिला आचार्य श्री रंजन सुरिदेव पत्रकारिता 2019 का सम्मान

 



नई दिल्ली। 'आर्यावर्त साहित्य-संस्कृति-संस्थान', नई दिल्ली के तत्त्वावधान में कल  गुंजन अग्रवाल 'आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव पत्रकारिता सम्मान-२०१९' से अलंकृत किया गया। गुजरात के पूर्व राज्यपाल प्रो. ओमप्रकाश कोहली; हिंदी के वरिष्ठ कवि एवं नाटककार तथा मध्यप्रदेश साहित्य अकादमी के पूर्व निदेशक डॉ. देवेन्द्र दीपक ; राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सम्पर्क प्रमुख प्रो. अनिरुद्ध देशपाण्डेय  तथा महात्मा गाँधी केन्द्रीय विश्वविद्यालय, मोतिहारी के  कुलपति  संजीव कुमार शर्मा ने उन्हें यह सम्मान प्रदान किया।


बिहार प्रदेश के वरिष्ठ साहित्यकार, सम्पादकाचार्य, समीक्षकाचार्य तथा हिंदी, संस्कृत, पाली, प्राकृत, मागधी, अर्धमागधी, अंगिका, भोजपुरी, मगही, मैथिली, अपभ्रंश, आदि अनेक भाषाओं के मूर्धन्य विद्वान्, कोशकार, अनुवादक आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव  (१९२५-२०१८), शोध-पत्रकारिता के क्षेत्र में मेरे आदर्श पुरुष रहे हैं। वर्ष २००५ से २०१२ तक उनके श्रीचरणों में बैठकर लेखन-सम्पादन की बारीकियों को समझने का सुअवसर प्राप्त हुआ है। आचार्य सूरिदेव जी संस्कृतनिष्ठ हिंदी के प्रबल समर्थक थे। वह आचार्य नलिन विलोचन शर्मा, आचार्य शिवपूजन सहाय-जैसे साहित्यकारों की पीढ़ी की अन्तिम कड़ी थे। गत वर्ष वह हमें छोड़कर चले गये। इस वर्ष उनके नाम पर प्रारम्भ पुरस्कार प्राप्त करना उनके  लिए अत्यन्त हर्ष और गौरव की बात है। एतदर्थ 'आर्यावर्त साहित्य-संस्कृति-संस्थान' के अध्यक्ष, महात्मा गाँधी केन्द्रीय विश्वविद्यालय, मोतिहारी के मीडिया-अध्ययन-विभाग के विभागाध्यक्ष तथा विश्वविद्यालय के डीन तथा प्रख्यात लेखक-समीक्षक प्रो. अरुण कुमार भगत के प्रति उन्होंने हार्दिक आभार व्यक्त किया।


साहित्य अकादमी, दिल्ली के दर्शकों-श्रोताओं से ठसाठस भरे सभागार में प्रो. अरुण कुमार भगत द्वारा सम्पादित, आपातकाल-विषयक तीन पुस्तकों— १. 'आपातकाल के काव्यकार', २. 'आपातकाल के संस्मरण' तथा ३. 'डॉ. देवेन्द्र दीपक का आपातकालीन साहित्य : दृष्टि और मूल्यांकन' का लोकार्पण किया गया। इनमें 'आपातकाल के संस्मरण' नामक पुस्तक में उनके  पिता कृष्णमोहन प्रसाद अग्रवाल का आपातकाल-विषयक संस्मरण भी समाविष्ट है।


इस अवसर पर सर्वश्री डॉ. रामशरण गौड़ , डॉ. वेद प्रकाश शर्मा, डॉ. मालती ,  विनोद बब्बर , हर्षवर्धन, डॉ. सारिका कालरा , डॉ. अशोक कुमार ज्योति, आशीष कंधवे , डॉ. लेहरीको भी सम्मानित किया गया।