रंजन तोमर को मिला संयुक्त राष्ट्र कर्मवीर सम्मान

**  समाजसेवी रंजन तोमर को मिला  संयुक्त राष्ट्र - करमवीर सम्मान 
**   संयुक्त राष्ट्र से समर्थित सम्मान को पाने वाले देश -विदेश के समाजसेवियों में हुए शामिल 



नोएडा। शहर के समाजसेवी रंजन तोमर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा समर्थित करमवीर सम्मान प्रदान किया गया। गौरतलब है कि शहर के समाजसेवी एवं नोवरा अध्यक्ष युवावस्था से ही सामाजिक हित के लिए कार्य करते रहे हैं , चाहे वह पर्यावरण हो , ग्रामीण सशक्तिकरण अथवा लोकतंत्र की लड़ाई , इससे पहले भी तोमर को चार अंतर्राष्ट्रीय एवं दर्जनों राष्ट्रीय सम्मान प्राप्त हो चुके हैं।


बड़ी बात यह है के यह सम्मान प्राप्त करने वालों में देश - विदेश के नामचीन लोग रह चुके हैं सफ़ेद क्रांति के जनक वर्गीस कुरियन , एक्ट्रेस गुल पनाग , डेविड नूर (संयुक्त राष्ट्र के पूर्व डायरेक्टर) , जॉन ग्रैहम (पूर्व अमेरिकी राजदूत एवं समाजसेवी ) शामिल हैं।  


रंजन तोमर ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि सम्मान पाना उनका लक्ष्य नहीं है, किन्तु यदि कोई सम्मान इंसान के साथ उसके शहर का भी सम्मान बढ़ाये तो वह उनके दिल के पास होगा। यह सम्मान जिस तरह देश - विदेश के चुनिंदा महान लोगों को मिल चुका है उस फेहरिश्त में शामिल होना सपने को सच होने जैसा है , किन्तु अभी रास्ता लम्बा है और सामने आने वाली सभी समस्याओं से उन्हें लड़ना और जीतना है जिससे उन लोगों और प्राणियों का जीवन बेहतर हो सके जो बोल नहीं सके या अपने हक़ के लिए लड़ नहीं सकते।  इसके आलावा उन्होंने मीडिया का आभार जताया के शहर को देश के नामचीन समाचार पत्रों ने हमेशा उनका साथ दिया , यहाँ तक की उन्हें बनाने में यदि सबसे बड़ा योगदान माना जाए तो वह मीडिया का है जिसने एक आम इंसान को शक्ति प्रदान की और उसे समाजसेवी के रूप में ढाला। 


इस दौरान देश विदेश से आई नामचीन हस्तियों ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई , तीन दिन तक नॉएडा के ही रामाज्ञा विद्यालय में चले कार्यक्रम में अमेरिका, लंदन, रूस आदि देशों से एवं देश भर के कोने कोने से समाजसेवियों का आना रहा , इस दौरान कौन बनेगा करोड़पति पर करमवीर कार्यक्रम में आने वाले समाजसेवी रवि कालरा , राज्य सभा सांसद अनु आगा , मुंबई की समाजसेवी सलमा मेमन , मोतिहारी के मुन्ना कुमार , पटना के विपुल श्रीवास्तव, दिल्ली से साहिल कौशर , सूरजपुर से वरिष्ठ समाजसेवी रामवीर तंवर , राष्ट्रिय खिलाडी गुलफाम अहमद आदि  सभी अवार्डियों को एक प्रशष्ति पत्र एवं एक मैडल प्रदान किया गया।