सपा के पूर्व प्रवक्ता अनिल यादव की पहली पत्नी ज्योति यादव ने उनपर लगाए गंभीर आरोप, अनिल ने किया खंडन

**  सपा के पूर्व प्रवक्ता अनिल यादव की पहली पत्नी मीडिया के सामने आकर लगाए कई गंभीर आरोप



नोएडा। सपा के पूर्व प्रवक्ता अनिल यादव और कांग्रेस की वर्तमान मीडिया पैनलिस्ट पंखुड़ी पाठक जल्द शादी करने वाले हैं।  लेकिन सपा नेता अनिल यादव की पहली पत्नी मीडिया के सामने आई और उन पर कई गंभीर आरोप लगाए।


अनिल यादव की पत्नी का कहना है कि उनके पति ने उनसे तलाक ले लिया और तलाक लेने के बाद भी कई महीने तक उन्हें अपने पास बंधक बनाकर रखा। इसी बीच जब उनकी और पंखुड़ी की शादी तय हो गई तो उन्होंने अब जाकर उनको अपने घर से बेदखल कर दिया। अपने साथ हुई जुल्म की पूरी दास्तान अनिल यादव के चंगुल से छूटी ज्योति ने मीडिया से बताई।


सपा नेता अनिल यादव की पूर्व पत्नी ज्योति यादव ने एक प्रेस के जरिए मीडिया से अपने साथ हुए  शोषण का खुलासा किया है। यह खुलासा उस वक्त हुआ है, जब सपा नेता अनिल यादव और कांग्रेस की मीडिया पैनलिस्ट और पूर्व में सपा में रह चुकी पंखुड़ी पाठक से विवाह करने वाले हैं।


अनिल यादव की पूर्व पत्नी ज्योति यादव का आरोप है कि अनिल यादव से उनकी शादी 2013 में हुई थी जिसके बाद से ही लगातार उनके साथ मारपीट किया करते थे। उसके कुछ समय बाद अनिल यादव की सपा में ही प्रवक्ता के तौर पर काम करने वाली पंखुड़ी पाठक से मुलाकात हुई जिसके बाद से अनिल के व्यवहार में बदलाव आने लगा और लगातार मारपीट और गाली.गलौज बढऩे लगी।


ज्योति यादव का कहना है कि पंखुड़ी पाठक के कहने पर अनिल यादव लगातार उनके साथ दुव्र्यवहार करने लगे और 2018 में उनके छोटे बच्चे पर पिस्टल तान कर उनको डराया धमकाया और मजबूरन तलाक लेने पर मजबूर कर दिया। दिल्ली के कोर्ट में दोनों के बीच तलाक भी हो गया, बावजूद इसके अनिल यादव ने लगातार ज्योति को अपने घर पर ही बंधक बनाकर रखा।


सपा नेता अनिल और उसका भाई कपिल दोनों उसके साथ जबरदस्ती यौन शोषण करते थे, हाल ही में अनिल और पंखुड़ी की विवाह की तारीख नजदीक आ गयी, तब जाकर अनिल ने ज्योति को अपने घर से धक्के मार कर निकाल दिया ताकि वह पंखुड़ी से शादी कर सके। ज्योति का कहना है कि इस दौरान उन्होंने उसके छोटे बच्चे को जान से मारने की धमकी देते हुए उनके साथ कई तरह के अनैतिक काम भी किए इसके लिए अब वह न्याय चाहती हैं।


उधर अनिल भी मीडिया से बातचीत की। इस मामले में अनिल यादव का कहना है कि। मैंने कोर्ट में कानूनी तरीके से तलाक लिया है , कोर्ट के आदेश पर 35 लाख पूर्व पत्नी व 15 लाख अपने बेटे के नाम किये हैं। ये सिर्फ मुझे बदनाम करने व मुझसे और धन संपत्ति ऐंठने की कोशिश है।