टेंट संचालक मिथिलेश चौरसिया की संदिग्ध मौत, हत्या की आशंका

टेंट हाउस संचालक मिथिलेश चौरसिया की हत्या की आशंका, 4 बच्चों के सिर से पिता का साया उठा
👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌



गोरखपुर, भाटपाररानी। घर से लापता टेंट हाउस संचालक मिथिलेश चौरसिया की लाश हाहा नदी तटबंध पर मंगलवार को सुबह मिली। उसके मुंह से झाग निकला था और चप्पल सिर के पास पड़ी थी। घरवालों ने हत्या की आशंका जताई है।
खामपार थानाक्षेत्र के निशानिया पैकौली निवासी मिथिलेश चौरसिया (32) टेंट हाउस चलाते थे। सोमवार को सुबह घर से चाय पीकर निकले। देर रात को वह घर नहीं आये और उसका मोबाइल भी नहीं मिल रहा था। रात को परिजनों ने तलाश किया लेकिन उसका पता नहीं चला। सुबह शौच के लिए गए लोगों ने बंधे पर शव देखकर शोर मचाया। गांववालों की घटनास्थल पर भीड़ जुट गई। इसकी सूचना लोगों ने पुलिस को दिया। कुछ देर बाद पुलिस पहुंची और पंचनामा बनाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
 पत्नी मीरा देवी ने का आरोप है कि मिथिलेश रविवार को दोपहर घर से निकला थे और रात में घर नहीं आये। सोमवार को सुबह घर आए और चाय पीने के बाद चले गए और वे तनाव में थे। सरया गांव के एक व्यक्ति ने सोमवार को बुलाया और कहा कि सट्टा में आया बर्तन ले जाओ, जब वह गए तो उसने कहा कि सट्टा कराने वाले व्यक्ति से उधार रुपये लिए हो, उसे दे दो तभी बर्तन जाएगा। उधर, इंस्पेक्टर भीष्मपाल सिंह यादव ने बताया कि मौत की वजह स्पष्ट नहीं है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुष्टि होगी। घरवालों के आरोप के आधार पर जांच कराई जा रही है।
बच्चों के सिर से उठ गया पिता का साया
निशानिया पैकौली के टेंट हाउस संचालक मिथिलेश चौरसिया के चार बच्चे थे। पिता की मौत के बाद पत्नी मीरा जहां बदहवाश हो गई। वहीं होश संभालने से पहले बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया। बड़ी बेटी काजल 10, ज्योति 8, सुधांशु छह और सूरज चार मां की चीख पुकार देख रो रहे थे। टेंट हाउस का दुकान चलाकर मिथिलेश परिवार का भरण पोषण करते थे।


आज बड़ी जरूरत है, इनके परिवार को आर्थिक मदद देने की। चौरसिया समाज के जागरूक, कर्मठ समाजसेवी इस पर ध्यान दें।