आईएफएफईसि ने एक्सपोमार्ट में शुरू की दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा नागरिक सुरक्षा और फायर सेफ़्टी

नोएडा।  इंटरनेशनल फायर एंड सिक्योरिटी एक्जिबिशन एंड कॉन्फ्रेंस (आईएफएसईसी) इंडिया एक्सपो दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा सुरक्षा नागरिक सुरक्षा और फायर सेफ्टी शो इनफॉर्मा मार्केट्स इन इंडिया पूर्व में यूबीएम इंडियाद्ध ने 13 वें संस्करण का अपना तीन दिवसीय एक्सपोए  ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपोमार्ट में गुरुवार को शुरू किया।  



इस कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि  बीएन सिंह आईएएस जिला कलेक्टर गौतमबुद्धनगर द्वारा किया गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश सरकार के पहले वरिष्ठ रक्षा सलाहकार जेक़े  शर्मा पीएचडी एवीएसएम एमएस उपाध्याय आईपीएस मुख्य सुरक्षा आयुक्तए दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशनय अनिल धवन सह.अध्यक्ष एसोचैम होमलैंड सिक्योरिटी काउंसिलय  शिव चरण यादव एशियाई पेशेवर सुरक्षा संघ एपीएसए के अध्यक्षय योगेश मुद्रा मैनेजिंग डायरेक्टर इंफॉर्मेट मार्केट्स इन इंडिया और मिस्टर पंकज जैन ग्रुप डायरेक्टर इंफोर्मा मार्केट्स इन इंडिया और इंडस्ट्री की सभी  प्रमुख हस्तीयां मौजुद थी।


तीन दिनों तक चलने वाले इस एक्सपो का चीन ताइवान दक्षिण कोरिया मलेशिया लिथुआनिया चेक गणराज्य, ब्रिटेन, रूस, अमेरिका और जापान जैसे 15 से अधिक देश इस कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे।  इस एक्सपो के जरिए 300 से अधिक घरेलू और विश्व स्तर पर प्रसिद्ध ब्रांडों प्रमुख सरकारी अधिकारियों सलाहकारों और व्यावसायिक विशेषज्ञ एक साथ आ पाएंगे । अमेरिकन सोसाइटी फॉर इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी (एएसआईएस) मुंबई एएसआईएस बेंगलुरु, एएसआईएस मुंबई, एएसआईएस दिल्ली, एशियन प्रोफेशनल सिक्योरिटी एसोसिएशन (एपीएसए सेंट्रल एसोसिएशन ऑफ प्राइवेट सिक्योरिटी इंडस्ट्री ;सीएपीएसआईद्धए इलेक्ट्रॉनिक सिक्योरिटी एसोसिएशन ऑफ इंडिया ;ईएसएआईद्धए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ड्रोन ;आईआईडीद्धए ग्लोबल एसोसिएशन ऑफ कॉर्पोरेट सिक्योरिटी जीएसीएस स्ट्रैटेजिक पार्टनर के रूप में  सेकोना के साथ एसोचैम और नॉलेज पार्टनर के रूप में मिकैट एडवाइजरी ए यह शो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध प्रदर्शकोंए सलाहकारोंए व्यवसाय विशेषज्ञों और प्रमुख सरकारी अधिकारियों को एक साथ एक साझा मंच पर लाया है। 
 
भारत में सिक्योरिटी इंडस्ट्री 14 प्रतिशत की सीएजीआर से वृद्धि कर रहा है और यह औद्योगिक परिसरों सार्वजनिक बुनियादी ढांचे आवासीय परिसरों जैसे अतिरिक्त बुनियादी ढांचे के निर्माण में तेजी के कारण इसके ओर बढ़ने की उम्मीद है। यह वृद्धि श्स्मार्ट सिटीजष् औरमेक इन इंडिया जैसी सरकारी पहलों द्वारा आगे बढ़ाया गया है। भारत में निजी सुरक्षा उद्योग 70 लाख से अधिक लोगों को रोजगार प्रदान करता है प्राइवेट सिक्योरिटी इंडस्ट्री के बढ़ने के साथ इस आकड़े की भी कई गुना बढ़ने की उम्मीद है।स्कूलों और एटीएम में गार्ड लगाना अनिवार्य करने और विभिन्न स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने जैसी सरकारी नीतियों के परिणामस्वरूप मांग में तेजी आई है। उदाहरण के लिएए आकड़ो से पता चलता है कि भारत में लगभग 15 लाख शिक्षा संस्थान हैं और सरकार ने 24 घंटे इन केंद्रों को सुरक्षित करने के लिए 3 सुरक्षा गार्ड को तैनात करने का निर्देश दिया है इससे प्राइवेट सिक्योरिटी इंडस्ट्री में 45 लाख नई नौकरियों का निर्माण होगा।    


आईएफएसईसी इंडिया शो के 13वें संस्करण में बोलते हुए भारत में इन्फॉर्मा मार्केट्स के प्रबंध निदेशक योगेश मुद्रास ने कहा सुरक्षा रणनीति पर दोबारा विचार करना और अत्याधुनिक तकनीकों को अपनाना न सिर्फ इस समय देश  की जरूरत के साथ.साथ समय की मांग है । भारत सरकार की सक्रिय नीतियां एक  ऐसा पारिस्थितिकी तंत्र बना सकती हैं जहां इस विकास को तेजी से बढ़ाया जा सकता हैं और इन संगठनों को उद्योग का दर्जा दिये जाने के बाद इसे आसानी से विकसित किया जा सकता हैं । इससे सुरक्षा उद्योग में अग्रणी खिलाड़ियों के लिए एक बड़ा बाजार खुलेगा । यह समय स्मार्ट तकनीकों का है और स्मार्ट सिटी की रफ्तार से मेल खाने के लिए स्मार्ट सिक्योरिटी और सर्विलांस सिस्टम की जरूरत बेहद अहम है।


उन्होंने आगे कहा कीईएफएसईसी इंडिया 2019 का उद्देश्य इस उद्योग की प्रगति के लिए एक माध्यम के रूप में कार्य करना है क्योंकि यह उद्योग के खिलाड़ियों को सामूहिक रूप से विचार करने नवाचार स्पॉट ट्रेंड करने और एक रक्षात्मक दृष्टिकोण से निगरानी के लिए भारत के सुरक्षा प्रतिमान में बदलाव करने में सक्षम बनाने के लिए एक मंच प्रदान करता है।


भारत में सुरक्षा बढ़ाने को लेकर बहुत सारे कदम उठाये जा रहें है आईएफएसईसी इंडिया 2019 ने प्रदर्शनी के साथ-साथ सुरक्षा की दुनिया को समझने के लिए दो दिवसीय सम्मेलन आयोजित करके वैश्विक सुरक्षा बाजार में मौजूद नई तकनीकों के साथ साथ हवाई वाहनों और ड्रोन जैसी नवीनतम तकनीकों को सक्रिय रूप से समझने का फैसला किया है । एक्सपो में पहले दिन चर्चित कुछ ट्रेंडिंग टॉपिक थे, होमलैंड सिक्योरिटी के लिए क्षमताओं का विकास करना ,इंडस्ट्री की भूमिका इलेक्ट्रॉनिक सिक्योरिटी पर इंडस्ट्री पर्सपेक्टिव डिफेंस और होमलैंड सिक्योरिटी में भारत इजरायल कोऑपरेशन।


आईएफएसईसी इंडिया अपनी इस प्रदर्शनी में सीसीटीवी और निगरानी बायोमेट्रिक्स और आरएफआईडीए इंटीग्रेटेड सिस्टम एक्सेस कंट्रोलए जीपीएस सिस्टमए वीडियो प्रबंधन पार्किंग स्वचालन परिवहन परिधि संरक्षण आईओटी स्मार्ट होम्स सुर से संबंधित उत्पाद और प्रदाताओं के ज्ञान के लिए निगरानी के अलावाए शहरों के सुरक्षित रखने वाले प्रमुख वैश्विक ब्रांडों और वितरकों में प्रीमियर प्लस पार्टनर आदित्य इन्फोटेक सीपी प्लस एंटरप्राइज सॉफ्टवेयर सॉल्यूशंस लिमिटेड ईएसएसएल एजविज़ ग्लोबस इन्फोटेक मार्कोन ओजोन ओवरसीज प्रामा टेल्टनिका और प्रीमियर पार्टनर्स जैसे फेसगो हॉगर नेटगियर  अन्य शामिल हैं।


आईएफएसईसी इंडियाए इस वर्ष आईएफएसईसी इंडिया पुरस्कारों के चौथे संस्करण की मेजबानी करने के लिए तैयार है। यह पुरस्कार विशेष रूप से विभिन्न उद्योग वर्टिकल जैसे बीएफएसआई रिटेल मैन्युफैक्चरिंग एनर्जी हेल्थकेयर पीएसयूआईटी और आईटीईएस और इंफ्रास्ट्रक्चर में इलेक्ट्रॉनिक फिजिकल एंड फायर सिक्योरिटी को डेवलॅप करने वाले दिमाग को सुर्खियों में लाने के लिए दिया जा रहा हैं। यह पुरस्कार सीएसओ और सुरक्षा अधिकारियों की उत्कृष्टता और नवाचारों को पहचानेंगे जो मजबूत सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए परदे के पीछे लगातार काम करते हैं । आईएफएसईसी इंडिया अवार्ड्स के लिए प्रोसेस एडवाइजर होंगे।


Popular posts
इंडियन पेरोक्साइड लि. ने कोरोना ड्राइव हेतु नोएडा को उपलब्ध कराया हाइड्रोजन पेरोक्साइड, यूपी के अन्य जिलों को भी निःशुल्क मिलेगा दान
Image
" जुग सहस्त्र जोजन पर भानु " हनुमान चालीसा के इस पंक्ति में है धरती से सूर्य की दूरी
Image
जारचा के छोलस में बच्चों के क्रिकेट खेलने को लेकर हुए झगड़े में 4 लोगों की हुई गिरफ्तारी
Image
नोएडा के दीपाक्षी अस्पताल के गेट पर शव को रखने पर हुआ एफआईआर, जांच के लिए उच्च स्तरीय टीम गठित
Image
स्वामी विवेकानंद ग्रामीण विकास सहयोग संस्था झुग्गी- झोपड़ी के मुद्दे को लेकर 27 फरवरी को प्राधिकरण पर होनेवाली धरने का दिया समर्थन
Image