प्रदूषण विश्वव्यापी समस्या है : अनिल शर्मा


नई दिल्ली। दिल्ली आईटीओ स्थित उर्दू घर में प्रदूषण एक समस्या पर विचार गोष्ठी एवं सम्मान समारोह का आयोजन सुरक्षा की आवाज फाउंडेशन व चौरसिया सेवा ट्रस्ट के सौजन्य से 1 दिसंबर 2019 रविवार को आयोजित किया गया जिसमें मुख्य अतिथि दिल्ली के पूर्व विधायक अनिल शर्मा मौजूद रहे। इस मौके पर विशिष्ट वक्ताओं , समाज के जागरूक लोगों व बच्चों को सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर अनिल शर्मा ने कहा कि प्रदूषण विश्वव्यापी समस्या है। प्रदूषण के मुद्दे पर भारत ही नहीं , दुनियां बात कर रहा है। इस प्रदूषण से बचने के लिए अधिक से अधिक पेड़ लगाना होगा।



उन्होंने कहा कि कोई भी सरकार नहीं चाहती कि प्रदूषण हो।इस प्रदूषण से निपटने के लिए जन-जन का सहयोग जरूरी है।
वरिष्ठ समाजिक कार्यकर्ता विनोद चौरसिया ने कहा कि प्रदूषण से दिल्ली में हाहाकार मचा है। इसके पीछे उन्होंने दिल्ली में बढ़ती आबादी को जिम्मेदार ठहराया। 
उन्होंने साफ तौर पर कहा कि गांव के पढ़े - लिखे व गरीब लोग शहर भागते हैं। इससे शहर में आबादी का अनुपात बढ़ जाता है। शहर जनसंख्या के दवाब को झेल नहीं पा रहा। बढ़ती आबादी निश्चित तौर पर प्रदूषण का सबसे बड़ा कारण है। उन्होंने किसानों द्वारा पराली जलाने व उद्योगों से निकलने वाले प्रदूषण पर चिंता जाहिर की।



उन्होंने बताया कि दिल्ली में यमुना प्रदूषित है। यहां 17, 900 कारखानों की विषाक्त केमिकल युक्त पानी सीधे बिना ट्रीटमेंट के यमुना में छोड़ा जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदूषण से अनेक बीमारियां पनप रही है। लोगों को राजनीति न करते हुए अपनी जिम्मेदारियों को समझना चाहिए।
इस मौके पर एड. संजय चौरसिया, पवन चौरसिया, सुमेश, साधना गुलाटी, बीके जायसवाल, देव कुमार आदि ने अपना विचार रखा। 
इस अवसर पर रश्मि शर्मा, विनोद राणा, मंजू मित्तल, विक्रम चौरसिया, आभा बलियान, प्रीतम, सहप्रीत, जशकीत, आदि को मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम को आयोजित करने में अजय चौरसिया का भरपूर योगदान रहा।