संघी नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ महानगर कांग्रेस कमिटी नोएडा ने निकाला विरोध मार्च, बिल के प्रतियों को जलाया

नोएडा।  भाजपा सरकार द्वारा लाये जा रहे संघी नागरिकता संसोधन बिल के खिलाफ महानगर कांग्रेस कमेटी नोएडा के कार्यकर्ताओं द्वारा अध्यक्ष सहाबुद्दीन के नेतृत्व में आज सुबह 11.15 बजे सैक्टर 18 जे एस आर्केड से लेकर अट्टा चौराहे तक इस संघी विधान बिल के खिलाफ विरोध मार्च निकाला गया। सभी कार्यकर्ताओं ने हाथों में इस संघी विधान के खिलाफ विभिन्न तरह के स्लोगन लिखी विरोध की पेपर तख्तियां हाथों में ले रखी थी।



महानगर अध्यक्ष सहाबुद्दीन ने विरोध जताते हुए कहा कि बाबा साहेब अंबेडकर ने सभी के लिए बराबरी का कानून बनाया था और भाजपा सरकार उसी कानून को बदल कर संघी एजेंडे के तहत देश को तोड़ने वाले बिल को लेकर आयी है।


जिला यूथ अध्यक्ष पुरुषोत्तम नागर ने कहा कि अंग्रेज चले गये लेकिन अपने पीछे ऐसे लोग जो अंग्रेजो के लिए मुखबरी किया करते थे उनको छोड़ गये। वही लोग आज वो ही काम कर रहे हैं जो अंग्रेज किया करते थे। यानी फुट डालो ओर राज करो। यह नागरिकता संशोधन बिल उसी दिशा में उठाया गया कदम है।


प्रवक्ता पवन शर्मा ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल भारत के मूल संविधान के साथ खिलवाड़ है। यह संशोधन बिल हमारे देश की बुनियाद को हिला देगा तथा मूल संविधान को खत्म करने का काम करेगा।


कार्यकर्ताओं ने अट्टा चौराहे पर इस संघी विधान बिल की प्रतियों को जलाकर अपना विरोध प्रकट किया। आज के विरोध प्रदर्शन में शामिल पदाधिकारियों में अध्यक्ष सहाबुद्दीन, पूर्व महानगर अध्यक्ष कृपाराम शर्मा, पूर्व  प्रत्याशी राजेंद्र अवाना, जिला यूथ अध्यक्ष पुरुषोत्तम नागर, प्रवक्ता पवन शर्मा, राजकुमार भारती, जगदीश शर्मा, लियाकत चौधरी, जिला महिला अध्यक्ष सुनीता शारदा, नगर अध्यक्ष पुष्पा काण्डपाल, प्रमोद शर्मा, जितेंद्र अम्बावत, सतेंद्र शर्मा, योगेंद्र सिंह (योगी) फिरे सिंह नगर, दयाशंकर पांडेय, ललित अवाना, अशोक शर्मा, रिषि गौतम, साकिर सैफ़ी, यतेन्द्र शर्मा, विक्रम चौधरी, रणबीर भाटी, अनीश अली, मोहम्मद अली, रिज़वान चौधरी, आरिफ, परवेज, रोज़ी लाम्बा, शीबा रज़ा, नगमा, रोहित शर्मा, गुड़िया चौहान, मधुराज, डॉ सीमा सहित दर्जनों कार्यकर्ता शामिल हुए।