यूपी में नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन, हिंसा में 5 की मौत

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को नये नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में पांच लोगों की मौत हो गयी. राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने यह जानकारी दी. वहीं, मेरठ में प्रदर्शनकारियों ने एक थाने को आग के हवाले कर दिया.




दूसरी तरफ, दिल्ली के दरियागंज इलाके में प्रदर्शनकारियों ने एक कार को आग के हवाले कर दिया गया. राष्ट्रीय राजधानी में दिनभर हुए शांतिपूर्ण प्रदर्शन के बाद आगजनी की यह पहली घटना है. पुलिस ने पुरानी दिल्ली से जंतर मंतर की ओर मार्च का प्रयास कर रहे प्रदर्शनकारियों के विशाल समूह पर पानी की बौछारें कीं और लाठीचार्ज भी किया. पुलिस ने उन्हें दिल्ली गेट पर ही रोक दिया. प्रदर्शन में किसी तरह की अप्रिय घटना न हो इसके लिए बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है, वहीं दंगे की स्थिति से निपटने के लिए रैपिड ऐक्शन फोर्स को भी तैनात किया गया है. उत्तर-पूर्व दिल्ली के सीलमपुर इलाके में पथराव की घटना में अडिशनल डीसीपी रोहित राजबीर सिंह घायल हो गये. पथराव की घटना में राजबीर सिंह को सिर पर चोट लगी है.

शुक्रवार की सुबह जुमे की नमाज के बाद जामा मस्जिद से बड़ी संख्या में लोग मार्च लेकर निकले जिन्हें दिल्ली गेट पर रोका गया. प्रदर्शन पुरानी दिल्ली के दरियागंज में भी हुआ. उधर, एहतियातन 15 मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया है. इमनमें से अधिकांश मेट्रो स्टेशन केंद्रीय दिल्ली और पुरानी दिल्ली में मौजूद हैं. दिल्ली गेट, चावड़ी बाजार, जामा मस्जिद, जामिया मिलिया इस्लामिया, जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर और लालकिला, जोहरी ऐन्क्लेव, शिव विहार, दिलशाद गार्डन, राजीव चौक, प्रगति मैदान, मंडी हाउस, जनपथ और खान मार्केट स्टेशन भी बंद कर दिये गये हैं.




दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के कई शहरों में शुक्रवार की नमाज के बाद नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में व्यापक प्रदर्शन हुआ. प्रदेश के नये हिस्सों में हिंसा फैल गयी. जानकारी के अनुसार, मेरठ शहर के थाने को प्रदर्शनकारियों ने आग के हवाले कर दिया जिससे थाना पूरी तरह जलकर राख हो गया. अधिकारियों ने बताया कि राजधानी लखनऊ और अलीगढ़ में कुल मिलाकर शांति रही. गुरुवार को लखनऊ में उपद्रवियों ने जमकर हिंसा की थी. प्रदेश के जिन नये जिलों में हिंसा हुई उनमें गोरखपुर, फिरोजाबाद, भदोही, बहराइच, फर्रूखाबाद, मेरठ और संभल शामिल हैं. प्रदर्शनकारियों को निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने से रोका गया तो उन्होंने पुलिस पर पथराव कर दिया. कई जगहों पर उग्र प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया.

अफवाहें रोकने के मकसद से अलीगढ़, मउ, आजमगढ़, लखनऊ, कानपुर, बरेली, शाहजहांपुर, गाजियाबाद, बुलंदशहर और संभल सहित लगभग दर्जन भर जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद हैं. कानपुर जोन के अपर पुलिस महानिदेशक प्रेम प्रकाश के अनुसार, इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गयी हैं. गोरखपुर में जुमे की नमाज के बाद हिंसक प्रदर्शन हुए. पुलिस ने बताया कि नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन के लिए लोग मस्जिदों में नमाज के बाद सड़कों पर आ गये. घंटाघर, शाहमारूफ, चौक, नक्खास, खूनीपुर और इस्माइलपुर सहित कुछ इलाकों में स्थिति तनावपूर्ण है. खूनीपुर थानाक्षेत्र के अंजुमन इस्लामिया के सामने पुलिस पर पथराव हुआ, जिसके बाद भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे. नक्खास में पुलिस ने उग्र प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया.

अलीगढ़ में प्रशासन ने रेड एलर्ट घोषित कर रखा है. जुमे की नमाज सभी संवेदनशील इलाकों में शांतिपूर्वक संपन्न हो गयी. एसएसपी अलीगढ़ आकाश कुलहरि ने बताया कि जुमे की नमाज शांति से निपट गयी. सुबह शहर मुफ्ती खालिद हामिद ने शांति की अपील की थी. अलीगढ़ के विभिन्न क्षेत्रों में पांच दिन से प्रदर्शन चल रहा है. अधिकांश प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व महिलाओं ने किया. मुस्लिम बहुल इलाकों में आज मस्जिदों से घोषणा कर अपील की गयी कि वे अफवाहों पर ध्यान ना दें. संभल जिले के चंदौसी क्षेत्र में भारी पथराव की खबर है. संभल में गुरवार को रोडवेज की दो बसें क्षतिग्रस्त कर दी गयी थीं. निषेधाज्ञा के उल्लंघन के लिए स्थानीय सांसद शफीकुर रहमान बर्क एवं अन्य के खिलाफ शुक्रवार को मामला दर्ज किया गया.

भदोही में प्रदर्शनकारियों ने काजीपुर इलाके से जुलूस निकाला. मशाल टाकीज के पास उनका पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों से टकराव हुआ. हालात काबू करने के लिए आंसूगैस के गोले दागे गये और हल्का बल प्रयोग किया गया. एसपी भदोही राम बदन सिंह ने बताया कि भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया और सड़क किनारे खड़ी कई बाइकों को क्षतिग्रस्त कर दिया. फिरोजाबाद दक्षिण थानाक्षेत्र में प्रदर्शनकारियों ने लगभग आधा दर्जन वाहनों को आग लगा दी. प्रदर्शनकारियों को तितर बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे. कुछ पुलिसकर्मियों के घायल होने की भी खबर है. फिरोजाबाद के एसएसपी सचिंदर पटेल और जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह भारी पुलिस बल के साथ मौके पर मौजूद हैं.

अधिकारियों ने बताया कि बुलंदशहर में शुक्रवार तीन बजे से इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गयीं. जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने बताया कि सोशल मीडिया पर अफवाहें फैलने से रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है. राजधानी लखनऊ सहित कई जिलों में मोबाइल इंटरनेट और एसएमएस की सेवाएं बंद रहीं.


Popular posts
इंडियन पेरोक्साइड लि. ने कोरोना ड्राइव हेतु नोएडा को उपलब्ध कराया हाइड्रोजन पेरोक्साइड, यूपी के अन्य जिलों को भी निःशुल्क मिलेगा दान
Image
" जुग सहस्त्र जोजन पर भानु " हनुमान चालीसा के इस पंक्ति में है धरती से सूर्य की दूरी
Image
समाज के पिछड़ों के महानायक और सर्वमान्य नेता थे बाबू शिवदयाल सिंह चौरसिया
Image
स्वामी विवेकानंद ग्रामीण विकास सहयोग संस्था झुग्गी- झोपड़ी के मुद्दे को लेकर 27 फरवरी को प्राधिकरण पर होनेवाली धरने का दिया समर्थन
Image
जय देव कृत दशावतार स्तुति के पाठ से मिलती है चिन्ताओं से मुक्ति
Image