औरंगाबाद जिले के पान कृषकों ने पान की खेती को हुए नुकसान के लिए मांगा अनुदान राशि


देव। औरंगाबाद जिले के देव क्षेत्र के पान कृषकों ने सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर भीषण ठंढ़ व कोहरे से पान की खेती में हुए नुकसान की भरपाई हेतु राहत अनुदान देने की मांग की है।
मुख्यमंत्री, जिला पदधिकारी, जिला कृषि पदाधिकारी व जिला उद्यान अधिकारी के नाम लिखे पत्र में पान कृषकों ने कहा है कि जिले के देव क्षेत्र में चौरसिया जाति के लोगों द्वारा व्यापक पान की खेती की जाती है। इस साल भीषण ठंढ़ व सघन कोहरे के कारण उनका पान की खेती 80 प्रतिशत नष्ट हो गया है, इससे उनकी आर्थिक स्थिति दयनीय हो गई है। चूंकि उनका परिवार इसी पान की खेती पर आश्रित है। इस भारी क्षति के बाद बिना अनुदान के परिवार चलाना व आगामी वर्ष में खेती करना सम्भव नहीं है। साथ ही उनके पलायन करने से बचाने के लिए सरकार को तुरंत कदम उठानी चाहिये।
उल्लेखनीय है कि वर्ष 2011-2012 में इसी तरह से पान की खेती नष्ट हुई थी, तब बिहार सरकार ने सर्वे कराकर पान कृषकों को अनुदान दिया था, जिससे वे दुबारा पान की खेती शुरू कर सके थे तथा पलायन करने से बचे थे।
पत्र भेजने वालों में सुरेंद्र चौरसिया, राजू चौरसिया, दिनेश चौरसिया, अशोक चौरसिया, अनिरुद्ध चौरसिया, मधुसूदन चौरसिया, चंदेश्वर चौरसिया, नवीन प्रसाद, मनोज कुमार, अर्जुन प्रसाद, सविता देवी, विभूति चौरसिया, किरण, रामपति प्रसाद, उदय प्रसाद आदि शामिल हैं।