एनईए चुनाव के लिए विपिन मल्हन पैनल तैयार, शुक्रवार को साढ़े 12 बजे करेंगे नामांकन

**   2020-2022 एनईए चुनाव के लिए विपिन मल्हन के जम्बो टीम तैयार, कल साढ़े बारह बजे करेंगे नामांकन




नोएडा। नोएडा के उद्यमी संस्था एनईए के 11 जनवरी 2020 को होने वाले चुनाव में विपिन मल्हन पैनल के जम्बो टीम चुनाव मैदान में है। नोएडा के इतिहास में यह पहली बार है जब 2020-2022 के दो वर्षों के चुनाव के लिए  एक पैनल से  109 उम्मीदवार मैदान में डटे हैं। हालांकि विपिन मल्हन के समानांतर कोई दूसरा पैनल फिलवक्त खड़ा नहीं हुआ है। 3 जनवरी को नामांकन का आखिरी दिन है।
आज सेक्टर एक स्थित चुनावी कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान विपीन मल्हन ने बताया कि उनकी 109 पैनल के पदाधिकारी और सदस्यों की टीम एक साथ शुक्रवार 12.30 बजे एनईए कार्यालय सेक्टर 6 पहुंचकर अपना नामांकन दाखिल करेंगे।
नोएडा के औद्योगिक नगरी में एनईए सबसे बड़ा एसोसिएशन माना जाता है और इसकी चुनाव धूमधड़ाके के साथ काफी खर्चीली होती है। इसमें कुल 4200 सदस्य हैं, लेकिन 1304 सदस्यों को वोटिंग का अधिकार है। 
ज्ञात हो कि एनईए संस्था नोएडा में 1978 से ही काबिज़ है। 2020-2022 के एनईए चुनाव में विपिन मल्हन पैनल के सामने कोई दूसरा पैनल सामने नहीं आया है। हालांकि किसी पद के लिए चुनाव की संभावना दिखाई दे रही है और 3 जनवरी को यह स्पष्ट हो जाएगा कि एनईए चुनाव का रुख क्या होगा?
उल्लेखनीय है कि विपिन मल्हन 2012 के एनईए चुनाव का हिस्सा बने थे और चार चुनाव में जीत का सेहरा उनके नाम है।



पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि उद्योग चलाते हुए हर समस्या के लिए वे ब्रिज का काम करते रहेंगे। वैसे, नोएडा के बोर्ड मीटिंग में शामिल होने के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि अधिकारी नोएडा के भविष्य को बंद कर चले जाते हैं। अपनी पॉलिसी पर प्राधिकरण काम करती है, जबकि यहां जनप्रतिनिधियों को भी यहां के बोर्ड मीटिंग में नोएडा का भविष्य तय करने का अधिकार नहीं है। नोएडा पैसा कहां, किस मद में खर्च होना है, यह यहां के प्रतिनिधि व एसोसिएशन नहीं, बल्कि कुछ सरकारी लोग ही तय कर देते हैं।
उन्होंने कहा कि नोएडा को फ्री होल्ड करने का मुद्दा अभी शासन के पास लटका हुआ है। सेक्टर के सामने के पार्क बेचे जा रहे थे, जिसे दवाब बनाकर रोका गया है।
विपिन मल्हन ने बताया कि स्टार्टअप के लिए के लिए काउंसलिंग चलाया जाता है, और उद्योग लगाने हेतु सलाह भी दिए जाते हैं।
उन्होंने बिजली संबंधी मुद्दों पर कहा कि बिजली सब्सिडी की लड़ाई लंबी लड़ी गई है। यहां औद्योगिक क्षेत्र में 80 हजार करोड़ का इन्वेस्ट है। नोएडा देश का शो-विंडो शहर है। इसपर सरकार को खास ध्यान देने की जरूरत है।
सेक्टर 9 में कॉमर्शियल गतिविधियों पर कहा कि यहां 50 मीटर की जमीन पर उद्योग संचालित करना सम्भव नहीं है। इसे कॉमर्शियल में मर्ज करने की बात है, जिसके चार्ज देने को लोग तैयार हैं, लेकिन मामला अभीतक लटका पड़ा है।
पानी के स्वच्छता पर उन्होंने चुटकी ली कि यहां का पानी इतना बढ़िया है कि लोगों के बाल झड़ रहे हैं, लोग गंजा हो रहे हैं।लोग पानी खरीदकर पी रहे हैं और प्राधिकरण को पानी का बिल जमा कर रहे हैं। 
उन्होंने शहर में जाम की स्थिति पर कहा कि औद्योगिक सहित अन्य विभागों की टाईमिंग चेंज हो तो इस समस्या से निपटा जा सकता है।
उन्होंने बताया कि कुछ लोग साजिश के तहत एनईए को बदनाम करना चाहते हैं, और फर्जी पत्र का इस्तेमाल कर रहे हैं। मोहन लाल के नाम से जो फर्जी पत्र भेजा गया है, वो हमारे सामने बैठे हैं। 42 साल से यह संस्था कार्य कर रही है और कुछ लोग अवैध कब्जे की बात कर भ्रम पैदा करना चाहते हैं, ताकि उनका हित सुरक्षित रहे।
इस प्रेस वार्ता में विपिन मल्हन, वीके सेठ, हरीश जुनेजा, धर्मवीर शर्मा, सुधीर श्रीवास्तव, अशोक गुप्ता, कमल कुमार, पीयूष गोयल, राहुल नय्यर, शरद जैन आदि कई उद्यमी शामिल रहे।