गौरव चंदेल हत्याकांड में पुलिस को मिली चंद कामयाबी, गाजियाबाद के मसूरी से कार बरामद

**    बहुचर्चित गौरव चंदेल मर्डर केस में पुलिस को मिली चंद कामयाबी, 9 दिन बाद हुआ कार बरामद



नोएडा।  बहुचर्चित गौरव चंदेल मर्डर केस में पुलिस ने 9 दिन बाद चंदेल की कार को बरामद कर लिया है। यह कार घटनास्थल से 40 किलोमीटर दूर गाजियाबाद के मसूरी में आकाश नागर के घर के पास खड़ी थी। पुलिस ने गाजियाबाद के मसूरी से इस कार को बरामद कर लिया है तथा पुलिस ने उम्मीद जताई है उसे कार से कुछ अहम सुराग मिले हैं जिससे अपराधी शीघ्र पकड़े जाएंगे।


 बदमाशों ने 6 जनवरी को ग्रेटर नोएडा वेस्ट में गौरव चंदेल की हत्या कर दी थी।  6 जनवरी को ही देर रात थाना फेस-3 क्षेत्र में पर्थला चौक से आगे सर्विस रोड पर गौरव चंदेल का शव मिला था। चंदेल के परिजन थाने में मामला दर्ज कराने गए थे लेकिन पुलिस ने उन्हें बैरंग वापस भेज दिया था। इसके बाद परिजनों ने खुद ही उनका शव बरामद किया था। बाद में मामले का संज्ञान उच्च अधिकारियों को लेना पड़ा और इसमें कई पुलिस अधिकारियों को बर्खास्त भी किया गया। गौरव चंदेल गुरुग्राम स्थित एक निजी कंपनी में रीजनल मैनेजर थे, जब वे ऑफिस से घर जा रहे थे तो लूट के बाद उनकी हत्या कर दी गई थी। 


इस सनसनीखेज हत्याकांड की खुलासे को लेकर नोएडा पुलिस के अलावा यूपी एसटीएफ को भी लगाया गया है। पहले नोएडा एसटीएफ की एक टीम काम कर रही थी, जबकि सोमवार से दो अन्य टीमों को भी इस केस की जांच में लगाया गया।


गौरव चंदेल हत्याकांड का पर्दाफाश करना पुलिस के साख का सवाल बना हुआ है। पुलिस ने अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है, लेकिन अभी तक केस का पर्दाफाश नहीं हो सका है। इससे पहले भी पुलिस ने दो सेल्टोस कार का पीछा किया था,  लेकिन वह कार असली मालिक का था, जिससे पुलिस को जांच झटका लगा था।


अब पुलिस अहम सुराग से हर विंदु पर जांच करने में जुटी है। इधर, कमिश्नर व्यवस्था से जहां वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की फ़ौज खड़ी हो गई है, वहीं इस हत्याकांड का खुलासा शीघ्र करने का दबाब और अधिक बढ़ गया है।