राष्ट्रपति ने अनूप खन्ना की दादी की रसोई मॉडल की तारीफ़ की

नोएडा। नोएडा शहर में दादी की रसोई के संचालक अनूप खन्ना ने गरीबों , कमजोरों के लिए एक ऐसा मॉडल तैयार किया है, जिससे कम कीमत पर भोजन, कपड़े दवाई, मेडिकल टेस्ट आदि की सुविधा मिल सकती है। वे अपने मॉडल को पेश करने के लिए राष्ट्रपति भवन में चीफ सेक्रेटरी संजय कोठारी के बुलावा पर शुक्रवार को पहुंचे। राष्ट्रपति ने उनके मॉडल की तारीफ भी की। अगर उनका यह मॉडल  पास हुआ तो यह देश में लागू किया जा सकता है।




गौरतलब है कि नोएडा के सेक्टर-29 स्थित गंगा शॉपिंग कॉम्पलेक्स में समाजसेवी अनूप खन्ना दादी की रसोई के माध्यम से पिछले 21 अगस्त 2015 से 5 व 10 रुपये में गरीबों को खाना खिलाने के साथ ही 10 रुपये में कपड़े, जूते, व शादी के जोड़े व शेरवानी भी उपलब्ध कराते हैं। वे भोजन के लिए गंगा शॉपिंग कॉम्पलेक्स में दोपहर 12 से 2 बजे तक भोजन उपलब्ध कराते हैं, जहां बड़ी संख्या में लोग पहुंचकर भोजन लेते हैं।  भोजन के साथ  ही उनके दुकान में प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र से मरीजों को सस्ती दवा भी मिलती हैं।


अनूप खन्ना ने कहा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बढ़ती महंगाई में देसी घी के तड़के से रोजाना सिर्फ पांच रुपए में सैकड़ों लोगों को पेट भर भोजन कराने की सराहना की।वे अपनी पत्नी के साथ राष्ट्रपति भवन पहुंचे थे। 


मूलरूप से यूपी के मुरादाबाद जिले के निवासी अनूप खन्ना ने दादी के रसोई के माध्यम से गरीबों को सस्ते दर पर भोजन करने की जिम्मेदारी उठाई थी, तब सवाल उठ रहा था कि यह कितने दिन चलेगा ? महज तब लोग अनूप के इस कार्य को एक महज ड्रामा ही करार दे रहे थे। लेकिन धीरे- धीरे वे अपने मिशन पर कामयाब होते गए और उनकी ख्याति में चार चांद लगती गई।  


समाज सेवा का रुझान और जनून है कि अनूप खन्ना राष्ट्रीय आपदा में हाथ बंटाने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। चाहे भुज की आपदा हो या उत्तराखंड के केदार नाथ या बिहार के बाढ़ पीड़ितों की वे सेवा देने के लिए पहुंच जाते हैं। उनके वर्षों का सेवा आज एक वृक्ष बन गया है, जहां फल लदे दिख रहे हैं। यदि उनका मॉडल सलेक्ट हुआ तो नोएडा के इतिहास में अनूप खन्ना मिल के पत्थर साबित होंगे।