सेक्टर 75 निवासी समस्याओं को लेकर 11 जनवरी को बैठेंगे भूख हड़ताल पर

नोएडा। नोएडा के सेक्टर 75 की समस्याओं को लेकर बुधवार को नोएडा के प्रेस क्लब में वहां के निवासियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाया कि विल्डरों की मनमानी से उनका जीवन दुष्वार हो गया है। वे नहीं चाहते कि उनका सेक्टर दुबई, सिंगापुर की तरह चकाचौंध हो, लेकिन इतना जरूर चाहते हैं कि यहां बिजली, पानी, सीवर, सीवेज कनेक्शन ठीक है। इसके लिए न तो विल्डरों को परवाह है, न नोएडा प्राधिकरण इस ओर दिलचस्पी ले रहा है। वे इन समस्याओं से तंग आकर 11 जनवरी को भूख हड़ताल पर बैठेंगे।



वक्ताओं ने कहा कि सेक्टर 75 के निवासियों को विल्डरों ने बेवकूफ बनाकर ठगा है, तथा सुविधाओं से महरूम रखा है। इस सेक्टर के अंदर सिस्टम फेल है। 2010 में इस सेक्टर को विल्डर मलूक नगर को डेवलपमेंट करने की जिम्मेदारी दी गई थी, लेकिन वे उसे पूरा नहीं कर सके और उसे छोटे विल्डरों की टुकड़े-टुकड़े में बेच दिया। यहां कुल 16 सोसायटी में तकरीबन 45 हजार लोग निवास करते हैं। इस सेक्टर को पूरा डेवलपमेंट करने की जिम्मेदारी विल्डरों के उपर थी, लेकिन वे कॉमन एरिया को डेवलपमेंट से हाथ खींच लिया है। इससे सीवेज का पानी पार्कों में फैला है, तो कूड़े का ढेर जमा है। सड़कों पर 80 प्रतिशत स्ट्रीट लाइट नहीं जलती। सड़क टूटना शुरू हो गया है।आज विल्डरों से करोड़ों का फ्लैट खरीद कर लोग मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं।


वक्ताओं ने कहा कि यदि विल्डर सुविधा प्रदान करने में नाकाम है तो प्राधिकरण इस सेक्टर को गोद लेकर सभी सुविधाएं उपलब्ध कराए। उन्होंने कहा कि नोएडा प्राधिकरण को इस बाबत कई बार ध्यान दिलाया गया है, लेकिन उनकी समस्याओं का हल अबतक नहीं निकला है।


इस मौके पर मल्लिकेश्वर झा, राकेश कुमार, नवीन मिश्रा, शुभ्रांशु झा वरुण सिंह चन्देल, दुष्यंत कुमार, पीएन ध्यानी आदि शामिल रहे।