आबादी के बीच डेयरियों का संचालन अवैध : डॉ. चौरसिया


मेरठ। नगर निगम डेयरियों को लेकर अब सख्त हो गया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट में दायर अवमानना याचिका को लेकर नगर आयुक्त डा. अरविन्द कुमार चौरसिया ने कहा है कि आबादी के बीच डेयरियों का संचालन अवैध है। डेयरी संचालकों को नोटिस जारी किया जाएगा। पांच हजार से 25 हजार प्रतिदिन जुर्माने का नोटिस दिया जाएगा। जुर्माने की वसूली आरसी जारी कर दी जाएगी।


हाईकोर्ट में दायर अवमानना याचिका को लेकर नगर आयुक्त ने सोमवार शाम नगर स्वास्थ्य अधिकारी, मुख्य सफाई अधिकारी और सभी सफाई निरीक्षकों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट के आदेश के तहत शहर में आबादी के बीच डेयरियों का संचालन अवैध है। पूर्व में सभी डेयरियों को शहर से बाहर जाने का आदेश दिया जा चुका है। इसके बावजूद बड़ी संख्या में डेयरियां अब भी आबादी के बीच चल रही है।


श्री चौरसिया ने सभी सफाई निरीक्षकों को मंगलवार से डेयरी संचालकों को नए प्रावधान के तहत पांच हजार से 20 हजार रुपये प्रतिदिन जुर्माने का नोटिस जारी करने को कहा। उन्होंने कहा कि पांच पशु तक के डेयरी संचालक को पांच हजार, पांच से 25 पशु वाले डेयरियों को 10 हजार और 25 पशु से अधिक डेयरी वालों को 20 हजार प्रतिदिन जुर्माना देना होगा। डेयरियों को शहर की आबादी में संचालित नहीं करने दिया जाएगा।


दुकानों, प्रतिष्ठानों में पॉलीथिन पर भी सख्ती की बात उन्होंने कही। उन्होंने कहा कि छापेमारी शुरू की जा रही है। पकड़े जाने पर भारी जुर्माना देना होगा।