भारतीय किसान संगठन ने बजट को किसान विरोधी कहा

नोएडा। आज भारतीय किसान संगठन के बैनर तले प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई जिसमें योगेंद्र यादव प्रभारी उत्तर प्रदेश रविंद्र भाटी प्रदेश अध्यक्ष दिल्ली  ने कहा की यह बजट किसान विरोधी है और सिर्फ लोक लुभावने वादे हैं। जमीनी हकीकत से इसका कोई सरोकार नहीं है क्योंकि पिछले बजट के मुकाबले यह बजट की रकम कम की गई है।



किसानों के लिए 2.83 लाख करोड है जबकि पिछली योजना में 2.84 लाख करोड थी रकम कम की गई है। किसानों के लिए 16 सूत्रीय योजना या 16 गुना मूर्ख बनाने की योजना किसान अपने पैसे से ट्यूबवेल के लिए बोरवेल कराता है और बिजली के कनेक्शन के लिए सालों तक चक्कर काटने पर भी कनेक्शन नहीं मिलता है। अपनी पसंद के सप्लायर से बिजली लेने की बात एक भद्दा मजाक है। देश के किसानों के साथ कॉरपोरेट के घाटे की भरपाई तुरंत और गन्ना किसानों का बकाया मिलेगा। सालों बाद ऐसा क्यों क्योंकि ना तो कोई ठोस रणनीति बनाई है किसानों के लिए।सिर्फ यह कोरे वादे हैं जिसका भारतीय किसान संगठन के सभी पदाधिकारी विरोध करते हैं और आने वाली 6 फरवरी को सभी पदाधिकारियों के साथ पंचायत करके एक बड़े आंदोलन के रूप में इसको ले कर रणनीति तैयार की जाएगी।


इस मौके पर पुष्कर चौहान प्रदेश महासचिव उत्तर प्रदेश प्रमोद यादव प्रदेश महासचिव दिल्ली लोकेश नागर जिला अध्यक्ष गाजियाबाद अरुण सिंह भूपेंद्र सिंह यशवीर कुमार राज शर्मा सत्यपाल कुमार और भारी संख्या में किसान और मजदूर उपस्थित रहे।