जेवर के पीड़ित परिवार को सरकार से भी नहीं मिली मदद, मीडिया से की गुहार

नोएडा। पीड़ित परिवार को योगी सरकार ने नही मिली न्याय तो मिडिया मे लगाया गुहार


नोएडा। जिला गौतमबुद्धनगर कस्बा जेवर का मामला है, जहाँ पर पुलिस के मिलिभगत से अपने ही घर से बेघर कर दिये गये पीड़ित परिवार। बिना नोटिस के ही चलाए गए बुल्डोजर पीड़ित परिवार के सदस्य माता भाई और लड़की के साथ पुलिस वालों ने किया अभद्रता। थाने मे भी नही हुई सुनवाई, पुलिस के द्वारा आज तक नही लिखा गया कोई एफआईआर।



मामला जिला गौतमबुद्धनगर की तहसील व थाना जेवर की है, जहाँ नगर पंचायत के भ्रष्ट कर्मचारियों के मदद तथा सांठ-गांठ से रतन सिंह पुत्र बुद्धसिंह के द्वारा खरीदे गए मकान को दिनांक 25.11.2019 को तोड़ दिया गया। पीड़ित का कहना है कि इसके लिए उन्हें कोई भी नोटिस नही भेजा गया। जब उनके परिवार के लोगों ने इस कारवाई का विरोध किया तो उनके परिवार के साथ मार-पीट किया गया। उनके माता, भाई और उनके लड़की को पुलिस ने घर मे बंद कर दिया ।  


पीड़ित पुलिस पर आरोप लगाया की उनके लड़की के साथ अभद्रता भी किया। ग्रामीणों के मोबाईल छीन लिये पुलिस ने :  जब गाँव के लोगों ने इस घटना की विडियों बनाने लगे तो उनके साथ भी पुलिस ने अभद्रता किया तथा उनके मोबाईल छिन लिये । किसी प्रकार से बचते बचाते एक बच्चे ने घटना की विडियों बना ली जिसमें साफ-साफ देखा जा सकता है कि पुलिस के मौजूदगी मे यह कारवाई हुई है। पीड़ित थाने मे गया वहाँ भी उनका सुनवाई नही हुआ और घटना के 3 महीने बाद भी आरोपी संजय व नरेश पुत्र स्वर्गीय कंचन सिंह पर अभी तक कोई  न एफआईआर लिखे गये है न कोई कारवाई । उल्टे भू-माफिया के मामला बनाकर पीड़ित को ही पुलिस के द्वारा प्रताड़ित किये जा रहे है। ऐसे पीड़ित ने योगी सरकार से न्याय की गुहार लगाई है। हालाँकि मामला माननीय हाईकोर्ट के संज्ञान मे भी पहुँच चुका है इसके बावजूद पुलिस कोई कारवाई नही कर रही है।