जिला ग्राम विकास संस्थान में क्षमता वर्धन के लिए दिया गया प्रशिक्षण

 नोएडा। गौतमबुद्ध नगर जनपद के जिला ग्राम विकास संस्थान में ग्राम विकास अधिकारियों, पंचायत सचिवों, ग्राम पंचायत सदस्यों , आंगनवाड़ी और आशा वर्कर्स को क्षमता वर्धन के लिए प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण आपदा  प्रवंधन विशेषज्ञ व स्वच्छ भारत मिशन के जिला समन्वयक गोपाल राय, संस्थान के प्रशिक्षण अधिकारी विमल कुमार ने दिया।



प्रशिक्षण के माध्यम से प्रतिभागियों का व्यक्तिगत रूप से और संस्थागत रूप से क्षमता वर्धन किया गया। इस क्षमता वर्धन के माध्यम से व्यक्तिगत रूप से और सामुदायिक रूप से खुशहाल, स्वच्छ, स्वस्थ और सुरक्षित समुदाय की अवधारणा को साकार करने के लिए प्रोत्साहित किया गया। प्रतिभागियों ने अपने साथ साथ ग्राम पंचायतों को भी खुशाल, स्वच्छ, स्वस्थ और सुरक्षित बनाने के लिए सकारात्मक सोच के साथ काम करने का भरोसा दिया।       


 गोपाल राय ने जल जीवन मिशन और  स्वच्छ भारत मिशन पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा 2024 तक हर घर नल से जल की महत्वाकांक्षी योजना को साकार करना है। 2024 तक हर व्यक्ति 55 लीटर शुद्ध व स्वच्छ जल दिया जायेग। उत्तर प्रदेश सरकार ने इसके 3000 करोड़ का बजट पास किया है। गोपाल राय ने कहा कि यह काम बहुत बड़ा है।इसे ठीक से पूरा करने के लिए ग्रामीणों की इसमे बड़े पैमाने पर सहभागिता की जरूत है। इसके साथ साथ जल संरक्षण के लिए भी लोगों को प्रोत्साहित किया गया। ठोस व तरल अपशिष्ट प्रवंधन पर चर्चा की गई । खुले में शौच मुक्त की निरन्तरता बनाये रखने के लिए प्रोत्साहित किया गया। उनको बताया गया कि स्वच्छता मान सम्मान है, सेहत है ,खुशहाल जीवन का आधार है। स्वच्छता पर एक रुपया खर्च करने पर छह रुपये का लाभ मिलता है। सभी प्रकार के खतरों से बचने और जोखिम को कम करने के लिए भी लोगों को प्रोत्साहित  किया गया। जोखिम कम करने पर एक रुपया खर्च करने पर 10 रुपये का लाभ मिलेगा।                 


संस्थान के प्रशिक्षण अधिकारी विमल  कुमार ने सरकारी योजनाओं की जानकारी विस्तार से दी और आम लोगों तक योजनाओं को पहुंचकर उनको लाभ दिलाने और उनके जीवन मे सकारात्मक बदलाव लाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि लोगों की क्षमता बढ़ाकर ही सार्थक बदलाव लाया जा सकता है। प्रशिक्षण में कुल 35 प्रतिभागियों ने भाग लिया। प्रशिक्षण को बुधवार को दूसरा दिन था। इसका समापन गुरुवार को होगा।  पहले दिन प्रशिक्षण विमल कुमार के अलावा कृषि वैज्ञानिक डॉ मयंक रॉय ने दिया। उन्होंने नई तकनीक अपनाकर आय बढ़ाने पर जोर दिया।