नाबालिग के वाहन चलाने पर 42500 का चालान ठोका, 25 साल तक नहीं बनेगी ड्राईविंग लाईसेंस

भुवनेश्वर। ओडिशा के भद्रक जिले में एक नाबालिग को वाहन चलाने के लिए देने पर नए मोटर व्हीकल एक्ट 2019 के तहत एक मोटरसाइकिल मालिक पर 42500 रुपए का जुर्माना लगाया गया है। अधिकारी ने शनिवार को इस बात की जानकारी दी। अधिकारी ने कहा कि नाबालिग भद्रक जिले के भंडारीपोखरी ब्लॉक के नुआपोखरी गांव का निवासी है।




जिले के नुआपोखरी इलाके के दोपहिया वाहन चालक नारायण बेहरा के खिलाफ 42500 रुपए का चालान जारी किया गया है। सूत्रों ने कहा कि जब भद्रक क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) के अधिकारियों ने गुरुवार को मोटरसाइकिल को रोका, तब नाबालिग बालक दो अन्य व्यक्तियों के साथ मोटरसाइकिल पर सवार था, जिसके बाद नाबालिग और वाहन मालिक के खिलाफ चालन किया गया।

चालान में 500 का जुर्माना सामान्य अपराध, 5000 का जुर्माना बिना ड्राइविंग लाइसेंस के वाहन चलाने को लेकर, 5000 का जुर्माना बिना ड्राइविंग लाइसेंस के वाहन चलाने की अनुमति देने को लेकर, 5000 का जुर्माना यातायात नियमों की अनदेखी करने को लेकर, 1000 का जुर्माना तीन सवारी बैठाने को लेकर, 1000 का जुर्माना बिना हेलमेट के वाहन चलाने को लेकर और 25 हजार का जुर्माना नाबलिग द्वारा अपराध करने को लेकर ठोका गया है।

हालांकि, राज्य परिवहन प्राधिकरण ने ट्विटर पर कहा कि वाहन के मालिक/वाहन चला रहे नाबालिग के परिजनों को 25 हजार का जुर्माना देना होगा और लडक़े को 25 साल होने तक ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) नहीं मिलेगा।