नोवरा ने ' नोएडा गो बैक ' की तख्ती लेकर शुरू की स्वराज्य की मांग

**   नोवरा ने छेड़ी 'नोएडा गो बैक'  की मुहिम ,स्वराज की मांग की तेज़ 


**   गेझा प्राथमिक विद्यालय में फिर भरा सीवर का पानी , नोवरा का प्रदर्शन 



नोएडा । ग्राम गेझा , सेक्टर 93 प्राथमिक विद्यालय परिसर में पिछले कुछ माह से सीवर का पानी भरा रहने से बच्चों का पढ़ना दूभर हो गया है। इसकी जानकारी जब नोएडा विलेज रेसिडेंट्स एसोसिएशन को लगी तो अध्यक्ष रंजन तोमर की देखरेख में एक टीम ने आज इसका निरिक्षण किया। इस दौरान वहां का हाल बदतर पाया गया। महीनों से वहां मलमूत्र एवं अन्य गंदगी जमी हुई है और बढ़ती जा रही है।


गौरतलब है के पूरे गाँव का सीवर का पानी सरकारी विद्यालय परिसर में आता है। यह विद्यालय गाँव की ज़मीन से नीचे पड़ गया है। इससे पहले कई बार नोवरा एवं सरकारी विद्यालय की अध्यापिकाओं, प्रधानाध्यापिका ने भी इस बाबत शिकायत की है , लेकिन कोई भी स्थाई समाधान नहीं निकाला गया है।  


नोवरा  अध्यक्ष  रंजन तोमर 'नोएडा गो बैक ,वी वांट एम्पावरमेंट टू  सॉल्व आर  इश्यूज ,वी वांट डेमोक्रेसी ' ( नॉएडा वापस जाओ , हमें अपनी समस्याओं को सुलझाने का अधिकार चाहिए , हमें लोकतंत्र चाहिए ) का पोस्टर पकडे हुए थे। इसके अलावा नोएडा के लिए स्वराज एवं नगर निगम के लिए हैशटैग स्लोगन भी लिखा हुआ था।  


नोवरा अध्यक्ष ने  कहा की नोएडा प्राधिकरण के बड़े- बड़े वादे धरातल पर फेल हैं। प्राधिकरण को चाहिए के वह अब सिर्फ औद्योगिक कार्यों पर वापस चली जाए। नोएडा के मुद्दों को सुलझाने के लिए यहाँ लोकतंत्र की आवश्यकता है।


गेझा गाँव के प्राथमिक विद्यालय की समस्या पिछले कई वर्षों से है और बढ़ती जा रही है। इससे बेफिक्र नॉएडा प्राधिकरण करोड़ों रुपए गोल्फ कोर्स आदि में फूंक रहा है, जबकि बच्चों का भविष्य ही नहीं वर्तमान भी खतरे में है।  कोरोना वायरस के ज़माने में यदि सीवर से यदि  कुछ बीमारियां पैदा होती है जो बच्चों में फ़ैल कर उन्हें नुक्सान देती हैं तो इसकी ज़िम्मेदारी क्या सीईओ ऋतू  माहेश्वरी लेंगी, यह बड़ा सवाल है?


उन्होंने कहा कि प्राधिकरण को चाहिए कि वह जल्द से जल्द इस मामले को ठीक करे एवं इस समस्या का पूर्णकालिक हल निकाले।  नोवरा की ओर से उपाध्यक्ष अजय चौहान ने कहा के जल्द ही विधायक पंकज सिंह से इस बाबत मुलाकात की जायेगी। ज़रूरत पड़ने पर सरकारी विद्यालयों के खस्ताहाल का मुद्दा मुख्यमंत्री तक भी पहुँचाया जाएगा।