प्राधिकरण दफ्तर पर धरने पर बैठे 100 से अधिक किसानों को पुलिस ने लिया हिरासत में, महिलाएं भी शामिल

 नोएडा। आज नोएडा प्राधिकरण के दफ्तर के बाहर सोमवार से धरने पर बैठे 100 से अधिक किसानों को पुलिस ने हिरासत में लिया है, इसमें महिलाएं भी शामिल हैं। हिरासत में लेते समय किसान भारत माता की जय का नारे लगा रहे थे।



उल्लेखनीय है कि किसान पिछले आंदोलन में प्राधिकरण के साथ वार्ता में स्पष्ट कर दिया था कि यदि प्राधिकरण उनकी मांगों को नहीं मानेगी तो किसान फिर आंदोलन करने को बाध्य होंगे। यह प्राधिकरण के अफसरों ने वार्ता के पश्चात भी कही थी। किसानों के आंदोलन खत्म होने और समय की मियाद समाप्त होने पर जब प्राधिकरण उनकी मांग को लटकाये रखा तो किसान फिर धरना पर बैठ गए।


सोमवार को किसानों ने अपनी मांगों को लेकर भारी संख्या में ट्रैक्टर ट्रॉली में सवार  होकर सेक्टर 6 स्थित नोएडा प्राधिकरण का घेराव किया और धरना पर बैठ गए। किसानों का कहना है कि प्राधिकरण के अधिकारी लगातार गांव की अवहेलना करने पर उतारू हैं। नोएडा शहर गांव की जमीनों पर ही बना है, लेकिन किसानों को अबतक 5 प्रतिशत का प्लॉट मिला नहीं मिला है कौन न उनका मुआवजा मिला है। किसानों का आरोप है कि प्राधिकरण द्वारा सेक्टर में विकास कार्य किए जा रहे हैं, लेकिन गांव में विकास कार्यों की उपेक्षा हो रही है।


किसानों के अनुसार,  प्राधिकरण जबरदस्ती किसानों की आबादी की जमीन को भी कब्जा कर  रहा है, जिसको लेकर वह लोग लगातार धरना- प्रदर्शन और अधिकारियों से मिल चुके हैं, लेकिन अधिकारी हर बार आश्वासन ही देते हैं। ऐसे में किसान एक बार फिर प्राधिकरण के दफ्तर में प्रदर्शन करने के लिए आए हैं। उनका कहना है कि जब तक अधिकारी ठोस कदम नहीं उठाते हैं, वह अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे।


 किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए भारी पुलिस फोर्स भी नोएडा प्राधिकरण के बाहर तैनात कर दिया गया था। प्राधिकरण के बाहर तैनात पुलिस फोर्स किसानों को यहां से हटने के लिए कह रही है, लेकिन किसान अड़े रहे। उधर, अधिकारियों ने सोमवार को ही कहा था कि अनधिकृत तरीके से किसान हस्तक्षेप कर रहे हैं और किसानों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी। और आज यह हो गया।