सेक्टर 12 में ज्वेलर्स लूट कांड में अभी तक बदमाश पुलिस की पकड़ से बाहर, 50 बदमाशों का लिस्ट बना

नोएडा। सेक्टर 12 में दिनदहाड़े कमल ज्वेलर्स पर हुए लूट की घटना से अभी पर्दा उठना बाकी है। पुलिस हर एंगिल से जांच में जुटी है, पर सबसे बड़ी बाधा हेलमेट बनी हुई है, जिससे बदमाशों को पहचानने में पुलिस को परेशानी हो रही है। बदमाशों की कड़ी जोड़कर पुलिस जल्द से जल्द मामले का खुलासा कर देना चाहती है। उधर, व्यापारियों की नाराजगी बढ़ती जा रही है। व्यापारियों के कई संगठन मामले की खुलासा न होने पर आंदोलन करने की धमकी भी दे रहे हैं।



उधर, डीसीपी संकल्प शर्मा ने कहा कि हुलिया के आधार पर 50 बदमाशों की लिस्ट तैयार की गई है उसमें एनसीआर सहित  मेरठ के भी बदमाश शामिल हैं। इस लिस्ट में शामिल कई संदिग्धों को पकड़कर इस प्रकरण में पूछताछ की जा चुकी है। लेकिन अभी तक अहम सुराग हाथ नहीं लगा है।


उन्होंने बताया कि जांच में जो भी सीसीटीवी फुटेज सामने आए हैं उसमें बदमाश हेल्मेट लगाए हुए हैं, जिससे उनकी पहचान कर पाने में दिक्कत हो रही है। पुलिस टीम काम कर रही है और उम्मीद है कि जल्द केस का पर्दाफाश किया जाएगा।


पिछले दिनों सेक्टर-12 स्थित पी ब्लॉक मार्केट में  दिनदहाड़े दो मोटरसाइकिल से आए हेल्मेट लगाए तीन बदमाशों ने कृष्णा नगर दिल्ली निवासी ज्वेलर नरेश पवार को गोली मारकर उनके कमल ज्वेलरी शोरूम से लाखों का सोना लूट ले गए थे। दोपहर करीब साढ़े 12 बजे हुई वारदात से पूरे बाजार में सनसनी फैल गई थी। नरेश पवार के सिर में गोली लगी थी व पीठ पर धारदार हथियार से हमला किया गया था। गंभीर हालत में उन्हें सेक्टर-11 स्थित मेट्रो अस्पताल में भर्ती कराया गया था। शनिवार तड़के नरेश को मेट्रो अस्पताल से दिल्ली के साकेत स्थित मैक्स अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया, वहां उनका इलाज चल रहा है, व स्थिति में काफी सुधार है।


पुलिस टीम उनसे इस प्रकरण को लेकर बातचीत कर चुकी है। उधर, लूट व गोली मारकर भागने की तस्वीर वहां लगे कैमरों में कैद है। तीनों बदमाश हेल्मेट लगाए हुए हैं व उसके अंदर मास्क मास्क भी पहने थे। वारदात को पांच दिन बीत चुके है लेकिन पुलिस इस लूटकांड का अब तक पर्दाफाश नहीं कर सकी है, जिससे सवाल उठ रहे हैं व व्यावसायियों में गुस्सा बढ़ता जा रहा है। वे आगे की रणनीति बना रहे हैं।